सिटी न्यूज़

कानपुर में हिंसा में निकला पाकिस्तानी कनेक्शन, जानें किस आधार पर पुलिस कह रही है ऐसा

कानपुर में हिंसा में निकला पाकिस्तानी कनेक्शन, जानें किस आधार पर पुलिस कह रही है ऐसा
UP City News | Jun 23, 2022 01:59 PM IST

कानपुर. उत्तर प्रदेश के कानपुर (Kanpur) में भाजपा की पूर्व राष्ट्रयी प्रवक्ता नूपुर शर्मा के पैगंबर मोहम्मद साहब पर दिए गए बयान के बाद हुई हिंसा के मामले में पाकिस्तानी कनेक्शन सामने आने की बात कही जा रही है. पुलिस का दावा है कि कानपुर में नई सड़क पर हुए बवाल का कनेक्शन पाकिस्तान में बैठे आकाओं से मिला है. बवाल के दौरान ही एक फोन नंबर से लगातार पाकिस्तान में कॉल चल रही थी. वह नंबर हिस्ट्रीशीटर की अतीक खिचड़ी का बताया जा रहा है. जानकारी में रहे कि अतीक बवाल के बाद से ही फरार चल रहा है. एसआईआईटी उसका कनेक्शन बाबा बिरियानी के मालिक मुख्तार बाबा से भी तलाश रही है.

बताया जा रहा है कि पहले बवाल की साजिश नूपुर शर्मा की टिप्पणी को लेकर भारत की विश्व पटल पर बदनामी कराने की को लेकर रची गई थी. जबकि दूसरों दूसरे बवाल के पीछे हिंदुओं की बस्ती चंद्रशेखर अहाता खाली कराना था. कहा जा रहा है कि कुछ बिल्डरों की नजर इसपर है. हालांकि बाद में पुलिस की जांच की दिशा बदल दी है. पुलिस नई सड़क की मोबाइल टावर के डाटा को खंगाल रही है. इसमें सामने आया कि मोबाइल नंबर से उस वक्त पड़ोसी देश से बात चल रही थी. उसके बाद नंबर लगातार बंद आ रहा है.

महाराष्ट्र में सियासी सकंट के बीच टीएमसी की एंट्री, शिवसेना विधायक की उद्धव ठाकरे के नाम चिट्ठी

पुलिस को चैटिंग का एक स्क्रीनशॉट भी मिला है, जो अतीक का बताया जा रहा है. जिसमें उसी पाकिस्तानी व्हाट्सएप नंबर से चैट की बात सामने आ रही है. पुलिस के मुताबिक चैट में लिखा है शेख बाबा और बम चाहिए, काम हो जाएगा. चैट की स्क्रीनशाट अतीक की है या नहीं इसकी जांच भी चल रही है. गौरतलब है कि अतीक अपराधियों गढ़ कहे जाने वाले गम्मू खा का हाता का रहने वाला बताया जाता है. कर्नलगंज थाने का हिस्ट्रीशीटर भी वो है. उसके खिलाफ थाने में 30 मुकदमे दर्ज हैं. अतीक का भाई हिस्ट्रीशीटर है.