सिटी न्यूज़

लोक अदालत में 33753 मुकदमों को किया खत्म, 7 करोड़ 41 लाख 28 हजार 243 का जुर्माना वसूला

लोक अदालत में  33753 मुकदमों को किया खत्म, 7 करोड़ 41 लाख 28 हजार 243 का जुर्माना वसूला
UP City News | May 15, 2022 09:29 AM IST

इटावा. जिला जज विनय कुमार द्विवेदी की अध्यक्षता में जजी परिसर में नेशनल लोक अदालत का आयोजन इटावा में किया गया. जहां पर कई सालों पुराने मामलों का निस्तारण किया गया. लोक अदालत का उद्घाटन जिला जज ने दीप जलाकर किया. लोक अदालत में आपसी सुलह समझौते के आधार पर 33 हजार 753 वादों का निस्तारण किया गया. वहीं 7 करोड़ 41 लाख 28 हजार 243 रुपए का जुर्माना भी वसूला गया. मोटर दुर्घटना क्षतिपूर्ति के 33 मुकदमों में एक करोड़ 30 लाख 60 हजार का हर्जाना दिलाया गया.फौजदारी के 2863 मुकदमों में 10 लाख 36 हजार 76 रूपये ज़ुर्माने के तौर पर वसूले गए.

जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव जसवीर सिंह यादव ने बताया कि इस बार पिछली लोक अदालतों से ज्यादा वादों का निस्तारण किया गया. उन्होंने बताया कि लोक अदालत में मोटर दुर्घटना क्षति पूर्ति के 33 वादों में एक करोड़ 30 लाख 60 हजार रुपये प्रतिकर के रूप में पीठासीन अधिकारी देवेंद्र सिंह द्वारा निर्धारित किए गए. फौजदारी के 2863 वादों का निस्तारण करते हुए 10 लाख 36 हजार 76 रुपये का अर्थदंड वसूला गया. प्रधान न्यायाधीश परिवार न्यायालय विष्णु कुमार शर्मा व अतिरिक्त परिवार न्यायाधीश रेनू सिंह ने संयुक्त रूप से 22 वैवाहिक प्रकरणों का निस्तारण किया. उन्होंने बताया कि विभिन्न विभागों व बैंको से संबंधित प्री लिटीगेशन के 699 वाद निस्तारित किए गए. इसमें दो करोड़ 22 लाख 74 हजार रुपये वसूल किए गए.

प्री लिटीगेशन व लंबित वादों का निस्तारण करते हुए सकल रूप से सात करोड़ 41 लाख 28 हजार 243 रुपये के मामले निस्तारित किए गए. लोगों को बैंको के ऋण के भुगतान में अच्छी छूट दी गई. लोक अदालत में नोडल अधिकारी राम प्रताप सिंह राणा, अपर जिला जज राम मिलन सिंह, मोटर दुर्घटना दावा अधिकरण पीठासीन अधिकारी देवेंद्र सिंह मौजूद रहे. वहीं लोक अदालत में कई परिवारों के बीच पुराने मामलों का निस्तारण भी किया गया. जिसमें कई सालों से झगड़ा था लेकिन लोक अदालत में समझाइश के बाद दोनों पक्ष मान गए और अब साथ-साथ में है.