सिटी न्यूज़

UP Board: 10वीं—12वीं के परीक्षा फॉर्म भरने की तिथि फिर बढ़ी, संशोधन का भी मौका

UP Board: 10वीं—12वीं के परीक्षा फॉर्म भरने की तिथि फिर बढ़ी, संशोधन का भी मौका
UP City News | Nov 27, 2021 11:47 AM IST

प्रयागराज. माध्यमिक शिक्षा परिषद के छात्रों को बोर्ड (UP Board) ने एक मौका और दिया है. स्कूलों में कक्षा 9 व 11 में प्रवेश लेने वाले छात्र-छात्राओं के अग्रिम पंजीकरण और कक्षा 10वीं व 12वीं के परीक्षा फॉर्म ऑनलाइन भरने की अंतिम तिथि एक बार और बढ़ाकर 15 दिसंबर कर दी गई है. इसके साथ ही छात्रों को फॉर्म में संशोधन करने के लिए 16 से 18 दिसंबर तक अवसर मिलेगा. खास बात यह है कि 2021 में कोरोना काल में बिना परीक्षा प्रोन्नत हाईस्कूल और इंटरमीडिएट के छात्र-छात्राओं को 2022 की बोर्ड परीक्षा में नि:शुल्क शामिल होने का मौका मिला है.

यूपी बोर्ड (UP Board) 10वीं और 12वीं कक्षा में छात्रों के कम पंजीकरण से चिंतित है. इस कारण यूपी बोर्ड (UP Board) द्वार लगातार 10वीं और 12वीं के परीक्षा फॉर्म भरने की तिथि बढ़ाई जा रही है. अब एक बार फिर यूपी बोर्ड (UP Board) ने मौका देते हुए 31 जुलाई को घोषित 2021 के 10वीं-12वीं के परिणाम से असंतुष्ट छात्र-छात्राएं फिर से आवेदन कर सकते हैं. 2021 के लिए पंजीकृत छात्र-छात्राओं को 2022 की परीक्षा देने के बावजूद 2021 का ही प्रमाणपत्र-सह-अंकपत्र प्रदान किया जाएगा. 20 नवंबर तक 9वीं व 11वीं में लगभग 58.53 लाख और कक्षा 10वीं व 12वीं के लिए 51.55 लाख छात्र-छात्राओं ने परीक्षा फॉर्म भरा है. यूपी बोर्ड (UP Board) ने अपने आदेश की प्रति सभी जिलों के जिला विद्यालय निरीक्षकों को प्रेषित कर दी है.

ये भी पढ़ें: राजर्षि टंडन मुक्त विश्वविद्यालय के 18 तरह के पाठ्यक्रमों पर लगाई रोक

बता दें​ कि​ विगत वर्ष कोरोना महामारी के कारण परीक्षाएं स्थगित कर दी गई थीं. यूपी बोर्ड ने गृह परीक्षाओं और पूर्ववर्ती कक्षाओं के अंकों के आधार पर छात्रों को प्रोन्नत कर दिया था. हालांकि इस प्रोन्नति से कई छात्रों ने नाइत्तफाकी जताई थी. इस पर यूपी बोर्ड ने अंक सुधार परीक्षा का आयोजन किया था. इसका परीक्षा परिणाम भी घोषित कर दिया गया है. इसके साथ ही यूपी बोर्ड ने कोरोना महामारी जैसी विषम परिस्थितियों के मद्देनजर अपनी तैयारी शुरू कर दी है. इस बार बोर्ड ने अर्धवार्षिक और टर्म परीक्षाओं के अंक भी वेबसाइट पर अपलोड करने के निर्देश दिए हैं. वर्तमान में माध्यमिक स्कूलों में अर्धवार्षिक परीक्षाओं का आयोजन किया जा रहा है.