सिटी न्यूज़

विवि: 108 कॉलेज ले गए संशोधित किए गए अंकपत्र, छात्रों को मिलेगी राहत

विवि: 108 कॉलेज ले गए संशोधित किए गए अंकपत्र, छात्रों को मिलेगी राहत
UP City News | Jun 09, 2021 02:45 PM IST

आगरा. डॉ. भीमराव आंबेडकर विश्वविद्यालय से 108 कॉलेजों के प्रतिनिधि वर्ष 2015-20 तक के लंबित अंकपंत्र ले गए. पालीवाल पार्क परिसर स्थित पंडित दीनदयाल उपाध्याय ग्राम्य विकास संस्थान में काउंटर लगाकर अंकपत्र वितरित किए गए. संशोधन, लॉट प्रिंट न होने व अन्य छोटी-मोटी समस्याओं की वजह से अंकपत्र लटके हुए थे. छात्र-छात्राएं कॉलेज और विश्वविद्यालय के चक्कर लगाने को मजबूर थे.

एजेंसी के प्रभारी प्रो. यूसी शर्मा ने बताया कि मंगलवार और बुधवार को एक से 300 कोड तक के कॉलेजों को बुलाया था। पहले दिन उम्मीद से अधिक लोग पहुंचे. कॉलेज के प्राचार्य की ओर से जारी अथॉरिटी लेटर के आधार कॉलेजों के प्रतिनिधियों को अंकपत्र दिए गए हैं और उनसे रिसीविंग ली गई. बीए, बीएससी, बीकॉम, बीएससी कृषि, एमए, एमएससी, एमकॉम, एमएससी कृषि आदि पाठ्यक्रमों के विभिन्न वर्षों के अंकपत्र दिए गए.

विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. अशोक मित्तल और परीक्षा नियंत्रक डॉ. राजीव कुमार ने मौके पर पहुंचकर व्यवस्थाएं परखीं. यूसी शर्मा का कहना है कि बुधवार को एक काउंटर बढ़ा दिया गया है. एक ही काउंटर होने से कॉलेजों को अंकपत्र प्राप्त करने पर कुछ देर इंतजार करना पड़ा. कॉलेजों से अंकपत्र प्राप्त कर सकते हैं विश्वविद्यालय के जनसंपर्क अधिकारी प्रो. प्रदीप श्रीधर का कहना है कि वर्ष 2015 से 2020 तक के जिन छात्र-छात्राओं की अंकपत्र अभी तक नहीं मिले हैं, वह संबंधित कॉलेजों में जाकर प्राप्त कर सकते हैं.

छात्रों को फोन से देंगे जानकारी
श्री लाल सिंह महाविद्यालय आविदगढ़ आगरा के कार्यालय सहायक राहुल मिश्रा का कहना है कि मेरे कॉलेज की वर्ष 2015 से 2019 तक के अंकपत्र लंबित थे. वर्ष 2016 का लॉट छपा ही नहीं था. छात्र-छात्राएं कॉलेज का चक्कर लगा रहे थे, अब उनको अंकपत्र प्राप्त होने की जानकारी फोन से दे दी जाएगी.

छात्र पुलिस भर्ती का फार्म भरने के लिए थे परेशान 
केआरपीजी कॉलेज मथुरा के कार्यालय सहायक रिंकू चौधरी का कहना है कि वर्ष 2020 के अंकपत्र नहीं मिले थे. विद्यार्थी रोजाना कॉलेज का चक्कर लगा रहे थे. इस समय पुलिस भर्ती के लिए फॉर्म भरा जा रहा है, छात्र अंकपत्र मांग रहे थे. अंकपत्र प्राप्त होने से छात्रों को फॉर्म भरने में सुविधा होगी।