सिटी न्यूज़

अब आनलाइन कोर्स में भी एडमिशन देगा एएमयू, घर बैठे होगी पढ़ाई और मिलेगी डिग्री

अब आनलाइन कोर्स में भी एडमिशन देगा एएमयू,  घर बैठे होगी पढ़ाई और मिलेगी डिग्री
UP City News | Feb 22, 2021 10:13 AM IST

अलीगढ़. अगर आपकी ख्वाहिश है कि आप भी अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में पढ़ें. आपके पास भी एएमयू की डिग्री हो, तो अब यह जरूरी नहीं की आपको अलीगढ़ कैम्पस में ही एडमिशन मिले तभी आप डिग्री हासिल कर सकेंगे. अब आप एएमयू की आनलाइन क्लास में भी एडमिशन ले सकते हैं. रेग्यूलर क्लास की तरह से आपकी भी आनलाइन क्लास लगेगी. कोर्स पूरा हो जाने के बाद आपको उसी तरह से डिग्री भी मिलेगी. इसी साल से एएमयू अपनी आनलाइन क्लास शुरु कर देगी. आनलाइन क्लास का जिम्मा एएमयू के सेंटर फार डिस्टेंस एंड आनलाइन एजुकेशन विभाग को दिया गया है.
शुरुआत में यह कोर्स चलेंगे आनलाइन
एएमयू के पीआरओ उमर पीरजादा के मुताबिक आनलाइन क्लास की शुरुआत में पहले बीए, बीकॉम, एमए और एमकॉम की पढ़ाई कराई जाएगी. रेग्यूलर क्लास की तरह से इसका भी अपना एक टाइम-टेबल होगा. यह एएमयू का एक बड़ा कदम है. यूनिवर्सिटी के इस कदम से हज़ारों ऐसे लोगों को एएमयू की डिग्री मिल सकेगी जो मुख्य कैम्पस में एडमिशन नहीं ले पाते हैं. इस कदम से एडमिशन के दौरान आने वाली परेशानियों को भी दूर किया जा सकेगा.
आनलाइन क्लास पर यह बोले एएमयू के वाइस चांसलर
एएमयू के वाइस चांसलर प्रोफेसर तारिक मंसूर आनलाइन क्लास शुरु होने पर खुशी जाहिर करते हुए कहा कि आनलाइन यूजी और पीजी कोर्स की शुरुआत के साथ एएमयू में इंटरनेशनल लेवल पर आउटरीच बढ़ेगा और यूनिवर्सिटी सभी को सस्ती शिक्षा देने के अपने मकसद में कामयाब हो सकेगा. उन्होंने कहा कि एएमयू को पूरी तरह से आनलाइन क्लास चलाने की अनुमति दिया जाना एक महत्वपूर्ण कदम है. उन्होंने यह भी बताया कि आनलाइन डिग्री कम लागत पर दी जाएगी और यह उन लोगों के लिए वरदान साबित होगी जो कैंपस में चलाए जा रहे कोर्सेज़ में एडमिशन नहीं ले पाते हैं.
ऐसे मिलेगा आनलाइन क्लास में एडमिशन
डॉयरेक्टर प्रोफेसर एम. नफीस अहमद अंसारी ने बताया कि आनलाइन कोर्स देश और विदेश के सभी उम्मीदवारों के लिए खुले हैं. भारतीय छात्रों को भारतीय रुपये में फीस का भुगतान करना होगा और अपने आधार कार्ड से जुड़ी जानकारी देनी होगी. जबकि विदेशी छात्रों को अपने पासपोर्ट से जुड़ी जानकारी यूनिवर्सिटी को देनी होगी. साथ में अमेरिकी डॉलर से फीस जमा करनी होगी. प्रोफेसर अंसारी ने कहा कि आन-कैंपस डिग्री की तुलना में आनलाइन कार्यक्रमों के लिए आवेदन के नियम ज्यादा लचीले हैं. प्रवेश फार्म जमा करना, कक्षाओं का पंजीकरण, कोर्सवर्क और असाइनमेंट और परीक्षाएं लेना यह सब छात्रों की व्यक्तिगत उपस्थिति के बिना आनलाइन किया जाएगा.
ऐसे मिलती है आनलाइन क्लास चलाने की अनुमति
एएमयू के पीआरओ ने बताया कि एएमयू यूजीसी के ओपन एंड डिस्टेंस लर्निंग प्रोग्राम्स एंड आनलाइन प्रोग्राम्स विनियम, 2020 की सभी शर्त को पूरा कर आनलाइन कोर्स शुरू करने वाले पहले चुनिंदा विश्वविद्यालयों की लिस्ट में शामिल हो गया है. इसके साथ ही राष्ट्रीय संस्थागत रैंकिंग फ्रेमवर्क (एनआईआरएफ) मानदंडों के अनुसार केवल राष्ट्रीय मूल्यांकन और प्रत्यायन परिषद (एनएएसी) द्वारा 4 में से कम से कम 3.01 अंक या टॉप 100 में रैंकिंग की मान्यता प्राप्त करने वाले विश्वविद्यालय ही आनलाइन कार्यक्रम चलाने के लिए आवेदन करने के पात्र होते हैं.