सिटी न्यूज़

SSC Railway के प्रतियोगियों ने सरकार के खिलाफ खोला Online मोर्चा, कोचिंग संस्थानों ने किया समर्थन

SSC Railway के प्रतियोगियों ने सरकार के खिलाफ खोला Online मोर्चा, कोचिंग संस्थानों ने किया समर्थन
UP City News | Sep 02, 2020 01:55 PM IST

नृपेंद्र सिंह

नई दिल्ली. रेलवे एसएससी के प्रतियोगियों ने अब सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है. लगातार इन प्रतियोगी परीक्षाओं की परीक्षा तारीख को टालने के बाद आखिरकार इन छात्रों ने सरकार के खिलाफ मुहिम छेड़ दी. ट्विटर पर ढेरों ट्वीट हुए तथा तमाम ऑनलाइन कोचिंग संस्थानों ने लाइव आकर इस मुद्दे पर अपनी बात रखी और प्रतियोगियों के इस मुहिम का समर्थन किया. इस दौरान Exampur नाम के ऑनलाइन कोचिंग क्लास चलाने वाले एक यूट्यूब चैनल ने पिछले 2 दिनों से लगातार छाता क्रांति के नाम से 15 घंटे का लाइव कर वर्चुअल विरोध प्रदर्शन किया और वह अभी जारी है. इनका कहना है कि अगर सरकार उनके इस वर्चुअल विरोध प्रदर्शन पर कोई जवाब नहीं देती तो वह सड़कों पर उतरने को मजबूर होंगे.

Exampur Live

बता दें कि सोशल मीडिया पर मंगलवार को पूरे दिन #speakupforSSCRailwaystudents ट्रेंड छाया रहा. इस ट्रेंड के जरिए SSC CGL 2018 के छात्रों के अलावा RRB NTPC के उम्मीदवारों ने अपनी मांगे रखी तथा सोशल मीडिया पर आम जनता व अन्य राजनीतिक पार्टियों की छात्र इकाईयों ने छात्रों के इस ट्विटर वार का समर्थन किया. बता दें कि 2018 में आयोजित एसएससी सीजीएल के परीक्षा का परिणाम अभी तक नहीं जारी किया गया. वहीं दूसरी तरफ एनटीपीसी के परीक्षा का फॉर्म के बाद उसका अभी तक उसकी परीक्षा नहीं करवाई गई है.

Exampur के गणित की फैकल्टी राजेश लांबा से बात करने पर उन्होंने बताया कि उनकी मांग है कि सरकार को इन सभी प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए प्रत्येक वर्ष का एक कैलेंडर जारी करना चाहिए, जिसमें परीक्षा से संबंधित प्रेस विज्ञप्ति से लेकर परीक्षा आयोजन और उसके रिजल्ट तक का दिन स्पष्ट रूप से लिखा होना चाहिए. उनका कहना है कि सरकार बार-बार इन परीक्षाओं के नाम पर फॉर्म निकालती है और जब लाखों अभ्यर्थी इन परीक्षाओं में आवेदन करते हैं, तो उसके बाद परीक्षा आयोजन में दो तीन साल लग जाते हैं. उन्होंने कहा कि हमारी मांग है कि सरकार पुरानी सभी परीक्षाओं और परीक्षा परिणामों को जल्द से जल्द घोषित करे और आने वाले सभी परीक्षाओं को लेकर एक सुनियोजित कैलेंडर जारी करे. ताकि सभी छात्रों को यह पता हो कि वह जिस परीक्षा के लिए आवेदन कर रहे हैं, उसमें उनको कब तक पूरा परिणाम मिलेगा.