सिटी न्यूज़

जब कोरोना संक्रमित हो चुकी महिला को सोशल मीडिया पर पोस्ट कर कहना पड़ा, अरे भाई...मैं जिंदा हूं

जब कोरोना संक्रमित हो चुकी महिला को सोशल मीडिया पर पोस्ट कर कहना पड़ा, अरे भाई...मैं जिंदा हूं
UP City News | Apr 26, 2021 11:00 AM IST

झांसी. यूपी के झांसी में एक अजीबोगरीब मामला सामने आया है. जहां पर एक महिला की कोरोना पॉजिटिव की रिपोर्ट नेगेटिव आने के बाद महारानी लक्ष्मी बाई मेडिकल कॉलेज से 17 अप्रैल को डिस्चार्ज हो गई, लेकिन उन्हें मृत दर्शा दिया गया. महिला को जानकारी तब हुई, जब रिश्तेदारों ने फोन करना शुरू कर दिए. इसके बाद महिला ने सोशल मीडिया पर वीडियो जारी कर खुद को जिंदा और पूरी तरह से स्वस्थ बताया. फिलहाल महिला होम आइसोलेशन में है. मेडिकल कॉलेज प्रशासन ने इसे मानवीय भूल बताया है.

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक सिविल लाइन क्षेत्र के बाबूलाल कारखाना निवासी सेवानिवृत्त शिक्षक लक्ष्मी नारायण गुप्ता और उनकी पत्नी राजकुमारी गुप्ता ने कोरोना के लक्षण आने पर 11 अप्रैल को अपनी जांच कराई गई 14 को रिपोर्ट पॉजिटिव आने पर वह मेडिकल कॉलेज भर्ती होने के लिए पहुंचे, लेकिन बेड ना मिलने पर वापस लौट आए. अगले दिन उन्हें मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया. हालत ठीक होने पर दोनों को दोबारा जांच कराई गई रिपोर्ट नेगेटिव आने पर उन्हें 17 अप्रैल को अस्पताल से घर भेज दिया गया. शुक्रवार को मेडिकल कॉलेज प्रशासन की तरफ से रिपोर्ट में मरने वालों की सूची में राजकुमारी गुप्ता का भी नाम जोड़ दिया गया.

लक्ष्मी नारायण गुप्ता ने बताया कि शुक्रवार रात से उनके रिश्तेदारों के फोन आना शुरू हो गए. सारे लोगों ने उनकी पत्नी के बारे में पूछना शुरु कर दिया. बार-बार फोन आने पर उन्होंने एक रिश्तेदार से खुलकर बताने को कहा. ऐसे रिश्तेदार ने मेडिकल कॉलेज की ओर से जारी सूची के बारे में बताया. जिसमें पत्नी को मृत किया गया था. यह सुनकर में काफी परेशान हो गए. इसके बाद उन्होंने पत्नी के साथ और उनका वीडियो बनाया और उसे सोशल मीडिया पर जारी किया. इस वीडियो में उन्होंने बताया कि पत्नी होम क्वारंटीन है. वह पूरी तरह से स्वस्थ हैं. पत्नी राजकुमारी ने भी वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर जारी कर खुद को स्वस्थ और जिंदा बताया है.