सिटी न्यूज़

झांसी: पराली जलाने पर मिलेगी अनोखी सजा, ग्रामीणों को किया जा रहा है जागरुक

झांसी: पराली जलाने पर मिलेगी अनोखी सजा, ग्रामीणों को किया जा रहा है जागरुक
UP City News | Jun 11, 2021 01:17 PM IST

झांसी. जिले में पराली जलाने पर सख्त कार्रवाई की जाएगी. अर्थदंड के साथ ही ​परिवार के लोगों के लिए जारी शस्त्र लाइसेंस को निरस्त कर दिया जाएगा. इसके लिए किसानों को जागरूक किया जाए. प्रधान गांव में बैठक कर लोगों को वायु प्रदूषण और उससे होने वाले नुकसान की जानकारी दें. इस प्रकार की घटनाओं पर अंकुश नहीं लगा पाने पर संबंधित के खिलाफ भी कार्रवाई की जाए. यह निर्देश डीएम झांसी आंद्रा वामसी ने दिए.

वह शंक्रवार को विकास भवन सभागार में पराली प्रबंधन के संबंध में आयोजित बैठक को संबोधित कर रहे थे. उन्होंंने एसडीएम को निर्देश दिए कि पराली प्रबंधन के लिए अभी से प्लानिंग कर लें. नवनिर्वाचित ग्राम प्रधानों के साथ बैठक कर खेत में आग न लगाने की जानकारी दें और लोगों को भी जागरूक करें. प्रधानों का निर्देशित करें कि उनके गांवों में इस प्रकार की घटनाएं नहीं होनी चाहिए अन्यथा वह भी कार्रवाई की जद में आ सकते हैं. प्रधानों से कहा जाए कि किसानों के साथ कई बैठक कर उन्हें जागरूक ​करें.

इसके लिए डीएम ने कहा कि खंड विकास अधिकारी निगरानी समिति के साथ बैठक करें और जागरूक करें कि वह गांव में सतत दृष्टि बनाए रखें कि कोई भी अपने खेत में आग न लगाएं. कार्रवाई के डर के साथ ही लोगों को कमाई करने के भी तरीके बताएं.उन्होंने बताया कि जिले में गांव में एक स्थान को चिह्नित कर भूसा बैंक स्थापित करें. इसके बाद इसे एनटीपीसी को बेचा जाएगा. इससे किसानों को आमदनी भी होगी और वायु प्रदूषण से होने वाले नुकसान से भी बचा जा सकेगा.

बता दें कि एनजीटी ने विगत वर्ष दिए अपने आदेश में पराली जलाने की घटनाओं पर सख्त रुख अपनाया था. इसके लिए एनजीटी ने राज्य सरकारों को निर्देशित किया था कि इस प्रकार की घटनाओं पर कार्रवाई करें, जिससे वायु प्रदूषण में कमी लाई जा सके. इसके बाद से ही राज्य सरकारों ने जिला प्रशासन को पराली जलाने वालेी घटनाओं पर रोक लगाने के आदेश दिए थे. विगत वर्ष प्रदेश में पराली जलाने पर कई किसानों पर अर्थदंड के साथ ही अन्य कठोर कार्रवाई भी अमल में लाई गई थी.