सिटी न्यूज़

राहुल ने पूछा, जब देश के लोग खतरे में हैं तो वैक्सीन बाहर क्यों भेजी जा रही है?

राहुल ने पूछा, जब देश के लोग खतरे में हैं तो वैक्सीन बाहर क्यों भेजी जा रही है?
UP City News | Apr 09, 2021 11:59 AM IST

नई दिल्ली. अपने बयानों को लेकर सुर्खियों में रहने वाले वरिष्ठ कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने देश में कोरोना वैक्सीन की उपलब्धता पर सवाल खड़ा किया है. एक ट्वीट में उन्होंने कहा बढ़ते कोरोना के बीच वैक्सीन की कमी होना एक अति गंभीर समस्या है. अपने देशवासियों को खतरे में डालकर एक्सपोर्ट करना क्या सही है. केंद्र सरकार सभी राज्यो को पक्षपात के बिना मदद करे. राहुल ने आगे लिखा कि हम सब को मिलकर इस कोरोना महामारी को हराना होगा.

देश में 16 जनवरी से शुरू हुए वैक्सीनेशन प्रोग्राम के तहत अब तक कुल 9,43,34,262 लोगों को कोरोना वायरस की वैक्सीन लगाई जा चुकी है. वहीं महाराष्ट्र और दिल्ली समेत देश के कई राज्यों में वैक्सीन की शॉर्टेज की खबर है. हालांकि स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने इसे खारिज कर दिया है. 2 अप्रैल से सरकार ने 45 साल से अधिक उम्र के सभी लोगों को कोरोना वायरस वैक्सीन की खुराक देने की अनुमति दे दी. 16 जनवरी से शुरू वैक्सीनेशन के पहले चरण में देश भर के हेल्थकेयर वर्करों और फ्रंटलाइन वर्करों को वैक्सीन की खुराक दी गई थी.

महाराष्ट्र सरकार के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने कहा हमें 7:30 लाख खुराक मिले जबकि यूपी को 48 लाख मध्यप्रदेश को 40 लाख टीका दिया गया. ऐसा भेदभाव क्यों किया जा रहा है ? जवाब में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि महाराष्ट्र को 1.06 करोड़ डोज दी जा चुके हैं कुछ सरकारे जनता को गुमराह कर रहे हैं. वहीं इस मुद्दे को राहुल गांधी ने भी लपक लिया और केंद्र सरकार और उसकी नीयत को कटघरे में खड़ा कर दिया. साथ ही नसीहत दे डाली कि केंद्र पक्षपात किए बिना ही सभी राज्यों को वक्सीन मुहैया कराए.