सिटी न्यूज़

जानिए एक और रजिया सुल्तान को, मुस्लिम समुदाय से पहली महिला डीएसपी बनीं

जानिए एक और रजिया सुल्तान को, मुस्लिम समुदाय से पहली महिला डीएसपी बनीं
UP City News | Jun 11, 2021 05:30 PM IST

गोपालगंज . रजिया सुल्तान. दिल्ली की पहली महिला मुस्लिम शासक थीं. उनकी सल्तनत के किस्से आज भी याद किए जाते हैं लेकिन आज हम बात कर रहे हैं इस जमाने की 27 वर्षीय रजिया सुल्तान जो कि मुस्लिम समुदाय से पहली महिला पुलिस उपाधीक्षक (डीएसपी) बनीं हैं.

गोपालगंज की रहने वाली हैं रजिया
बिहार लोक सेवा आयोग ने हाल ही में 64वीं संयुक्त प्रतियोगी परीक्षा का रिजल्ट जारी किया है. इस परीक्षा में एक लड़की ने इतिहास रच दिया. गोपालगंज की रहने वाली रजिया सुल्तान डीएसपी के रूप में चयनित होने वाली पहली मु्स्लिम महिला बन गई हैं. फिलहाल रजिया सुल्तान बिहार सरकार के बिजली विभाग में सहायक अभियंता के पद पर कार्यरत है. लेकिन अब जल्द ही वह इस नौकरी को छोड़ कर खाकी वर्दी में नजर आएंगी.

बिजली विभाग में सहायक अभियंता
रजिया ने अपनी स्कूली शिक्षा झारखंड के बोकारो से पूरी की क्योंकि उनके पिता मोहम्मद असलम अंसारी बोकारो स्टील प्लांट में स्टेनोग्राफर के पद पर तैनात थे. 2016 में उनका निधन हो गया था. उनकी मां अभी भी बोकारो में रहती हैं. रजिया छह बहनों और एक भाई में सबसे छोटी है.

लोक सेवा आयोग की परीक्षा पास करना था सपना
रजिया साल 2009 में बोकारो से 10वीं और फिर 2011 में 12वीं की परीक्षा पास करने के बाद जोधपुर चली गई. वहां उन्होंने इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग की पढ़ाई की. फिर उन्होंने बिहार के बिजली विभाग में सहायक अभियंता पद पर तैनाती मिली. रजिया का सपना लोक सेवा आयोग की परीक्षा उत्तीर्ण करना था. 2017 में बिहार सरकार के बिजली विभाग में सहायक अभियंता के रूप में तैनात होने के बाद से वह बीपीएससी परीक्षा की तैयारी कर रही थी. 2018 में रजिया ने बीपीएससी की प्रारंभिक परीक्षा दी और फिर 2019 में मेंस परीक्षा को पास किया. इसके बाद इंटरव्यू दिया और इस साल घोषित नतीजों में डीएसपी के पद पर उनका चयन हो गया.