सिटी न्यूज़

Firecrackers Ban In Delhi:  दीपावली पर कई राज्यों में बैन किए पटाखे, राज्य सरकारों ने जारी किया आदेश

Firecrackers Ban In Delhi:  दीपावली पर कई राज्यों में बैन किए पटाखे, राज्य सरकारों ने जारी किया आदेश
UP City News | Oct 17, 2021 12:52 PM IST

नईदिल्ली. प्रदूषण पर लगाम के लिए राज्यों ने कमर कस ली है. इस दीपावली पर पटाखों से होने वाले प्रदूषण पर रोक के लिए कुछ राज्यों में पटाखों (Firecrackers) पर पूर्ण प्रतिबंध है तो कहीं सिर्फ ग्रीन पटाखों को ही अनुमति दी गई है. कुछ प्रदेशों ने आतिशबाजी के लिए समय सीमा भी तय कर दी है.

राजस्थान : दिवाली पर दो घंटे चला सकेंगे ग्रीन पटाखे

राज्य सरकार ने प्रदेश में पटाखों (Firecrackers) पर प्रतिबंध के मामले में यू टर्न ले लिया है. यहां एनसीआर क्षेत्र को छोड़कर अन्य जिलों में दीपावली पर दो घंटे रात 8 से 10 बजे तक के लिए ग्रीन पटाखों को चलाने की अनुमति दी गई है. गृह विभाग की ओर से जारी आदेशों में क्रिसमस और नववर्ष पर रात्रि 11.55 से रात्रि 12.30 बजे, गुरु पर्व पर रात्रि 8 से रात्रि 10 बजे तक तथा छठ पर्व पर सुबह 6 से सुबह 8 बजे तक ग्रीन पटाखे चलाने की अनुमति होगी. मालूम हो कि कुछ दिन पहले प्रदूषण और कोरोना मरीजों को होने वाली परेशानियों को देखते हुए सरकार ने राज्य में 1 अक्तूबर 2021 से 31 जनवरी 2022 तक इनके विक्रय व उपयोग पर रोक लगा दी थी.

सख्ती : सुप्रीम कोर्ट ने कहा था, हर राज्य पटाखों पर प्रतिबंध लगाएं

देश की सर्वोच्च अदालत ने एक सप्ताह पूर्व कहा था कि हमने पटाखे पर प्रतिबंध को लेकर जो आदेश पारित कर रखा है, उसका प्रत्येक राज्य पालन करें. सर्वोच्च न्यायालय ने स्पष्ट किया कि वह उत्सव के खिलाफ नहीं है, लेकिन इंसान की जिंदगी को खतरे में डालकर उत्सव मनाने की छूट नहीं दी जा सकती है. उत्सव फुलझड़ी चलाकर या बिना शोर के भी हो सकता है. सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि ग्रीन पटाखे की आड़ में पटाखा निर्माता प्रतिबंधित रसायन का इस्तेमाल कर रहे हैं. इससे जहां लोगों के स्वास्थ्य पर प्रतिकूल असर पड़ता है वहीं, वातावरण भी प्रदूषित होता है. सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि जब भी कोई उत्सव होता है तो आप देख सकते हैं कि बाजार में प्रतिबंधित पटाखे उपलब्ध हैं.

इन राज्यों में पटाखों पर पूरी तरह से रोक

राजधानी दिल्ली में प्रदूषण को देखते हुए दिवाली पर पटाखे जलाने पर पूरी तरह से प्रतिबंध लगा हुआ है. दिल्ली प्रदूषण नियंत्रण समिति ने दिल्ली में पटाखा बेचने (Firecrackers Ban In Delhi) और जलाने पर प्रतिबंध लगा दिया है. ये रोक जनवरी 2022 तक लगा हुआ है. हरियाणा और ओडिशा सरकार ने भी इस पर रोक लगा दी है. चंडीगढ़ यूटी प्रशासन लगातार दूसरे साल आतिशबाजी पर रोक लगा चुका है. इसके अलावा कर्नाटक, पश्चिम बंगाल, सिक्किम में भी पिछले साल पटाखों पर प्रतिबंध की घोषणा की गई थी. दूसरी ओर महाराष्ट्र सरकार ने भी एसओपी जारी करते हुए पटाखे न जलाने की अपील की है.