सिटी न्यूज़

बिकरू कांड: विकास दुबे की पत्नी ऋचा दुबे पहुंची सुप्रीम कोर्ट

बिकरू कांड: विकास दुबे की पत्नी ऋचा दुबे पहुंची सुप्रीम कोर्ट
UP City News | Nov 26, 2021 03:00 PM IST

दिल्ली. कानपुर के बिकरू मर्डर केस के मुख्य आरोपी विकास दुबे की पत्नी ऋचा दुबे ने इलाहाबाद हाईकोर्ट के फैसले को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी है. ऋचा दुबे ने सुप्रीम कोर्ट में अर्जी दाखिल कर चौबेपुर थाने में उनके खिलाफ दर्ज एफआईआर को रद्द करने की मांग की है. सुप्रीम कोर्ट ऋचा दुबे की इस याचिका पर 29 नवंबर को सुनवाई करेगा.

ये भी पढ़ें: पुलिस हिरासत में युवक की मौत मामले में हाईकोर्ट में जनहित याचिका दायर

 

दरअसल, फर्जी नाम से सिम कार्ड लेने के मामले मे 9 नवंबर 2020 को एफआईआर दर्ज की गई थी. जिसको लेकर ऋचा दुबे ने इलाहाबाद हाईकोर्ट में याचिका दाखिल की थी लेकिन हाईकोर्ट ने ऋचा दुबे को राहत देने से इनकार कर दिया था और उनकी याचिका को खारिज कर दिया था. हाईकोर्ट ने याचिका को खारिज करते हुए कहा था कि आईपीसी की धारा 419, 420 के तहत दूसरे व्यक्ति के सिम कार्ड का इस्तेमाल करके कपट और धोखाधड़ी के मामले में दाखिल चार्जशीट पर कोई हस्तक्षेप नहीं करेगा. यह आदेश जस्टिस शमीम अहमद ने ऋचा दुबे के अधिवक्ता प्रभाशंकर मिश्र और राज्य सरकार के अपर महाधिवक्ता मनीष गोयल की बहस के बाद दिया था. ऋचा दुबे के खिलाफ एसआईटी की रिपोर्ट के आधार पर कानपुर नगर के चौबेपुर थाने में एफआईआर दर्ज कराई गई है। पुलिस ने रमाबाई नगर (कानपुर देहात) की विशेष अदालत में चार्जशीट दाखिल की है, जिसके बाद से इस मामले में ऋचा दुबे के खिलाफ मामला चल रहा है।

ये था मामला

गौरतलब है कि 2 जुलाई 2020 की आधी रात 12:45 बजे. बिकरू गांव में गैंगस्टर विकास दुबे और उसके गुर्गों ने सीओ समेत 8 पुलिसकर्मियों की हत्या कर दी थी. पुलिस और एसटीएफ ने मिलकर आठ दिन के भीतर विकास दुबे समेत छह बदमाशों को एनकाउंटर में ढेर कर दिया था. 45 आरोपी जेल में बंद हैं. इस केस का ट्रायल अब भी जारी है. दो जुलाई 2020 की को चौबेपुर के जादेपुरधस्सा गांव निवासी राहुल तिवारी ने विकास दुबे व उसके साथियों पर हत्या के प्रयास का मुकदमा दर्ज कराया था. एफआईआर दर्ज करने के बाद उसी रात करीब साढ़े बारह बजे तत्कालीन सीओ बिल्हौर देवेंद्र कुमार मिश्रा के नेतृत्व में बिकरू गांव में दबिश दी गई.