सिटी न्यूज़

जेल से रिहा होने के बाद किसान आंदोलन में सक्रिय हुए हरियाणा के पूर्व सीएम चौटाला, जानें कृषि बिलों पर क्या बोले

जेल से रिहा होने के बाद किसान आंदोलन में सक्रिय हुए हरियाणा के पूर्व सीएम चौटाला, जानें कृषि बिलों पर क्या बोले
UP City News | Jul 21, 2021 05:50 PM IST

चंडीगढ़. इंडियन नेशनल लोकदल के वरिष्ठ नेता एवं हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री ओमप्रकाश चौटाला भी किसान आंदोलन में कूद गए हैं. उन्होंने बुधवार को सिंधु बार्डर पर कहा कि 22 जुलाई को विपक्ष के संसद सदस्य संसद का घेराव करेंगे. धरना देंगे और इकट्ठे होकर संसद में जाएंगे और काले कानून का विरोध करेंगे. ऐसे हालात पैदा कर देंगे कि सरकार को मजबूर होकर कानून वापस लेने पड़ेंगे.

राकेश टिकैत को दिया था समर्थन
मंगलवार को भी तीनों कृषि कानूनों के खिलाफ यूपी गेट पर हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री ओम प्रकाश चौटाला पहुंचे थे. यहां उन्होंने भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत को समर्थन दिया. हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री ओम प्रकाश ने किसान आंदोलन के कारण केंद्र सरकार जल्द ही गिरने वाली है.

मध्यविधि चुनाव कराने पड़ेंगे
चौटाला ने कहा कि पूरा देश कृषि कानूनों के विरोध में खड़ा है. जहां भी देखो किसान परेशान हैं. मंडियों में उनका अनाज खरीदने वाला कोई नही है. यही कारण है कि सरकार के सहयोगी दल उससे अलग हो रहे हैं. ओम प्रकाश चौटाला ने यह भी कहा कि सरकार जल्द ही अल्पमत में आ जाएगी. सरकार गिरेगी और मध्यावधि चुनाव करवाने पड़ेंगे.

हाल में जेल से हुए हैं रिहा
ओम प्रकाश चौटाला बीते दो जुलाई को ही दिल्ली की तिहाड़ जेल से रिहा हुए हैं. शिक्षक भर्ती घोटाले में उन्हें दस साल की सजा हुई थी. जेल से बाहर आते ही वह देश की किसान राजनीति में सक्रिय हो गए हैं.