सिटी न्यूज़

सत्रह वर्षीय छात्र की दिनदहाड़े बेरहमी से चाकुओं से गोदकर हत्‍या, गांव के मनबढ़ों पर हत्‍या का आरोप

सत्रह वर्षीय छात्र की दिनदहाड़े बेरहमी से चाकुओं से गोदकर हत्‍या, गांव के मनबढ़ों पर हत्‍या का आरोप
UP City News | Nov 24, 2021 11:05 PM IST

गोरखपुर. गोरखपुर का रामगढ़ताल थानाक्षेत्र लगातार सुर्खियों में बना हुआ है. इलाके में बीते दिन होटल में कानपुर के व्‍यापारी मनीष गुप्‍ता केस की आंच अभी ठंडी भी नहीं पड़ी. ताबड़तोड़ वारदातों ने पुलिस के नाक में दम कर दिया है. ताजा मामला बुधवार की दोपहर दो बजे का है. इसी इलाके में 17 वर्षीय छात्र की पूर्व के विवाद में दिनदहाड़े चा‍कुओं से गोदकर निर्मम हत्‍या कर दी गई. घटना को अंजाम देने के बाद मनबढ़ फरार हो गए. पुलिस आरोपियों की तलाश में जुटी है.

गोरखपुर के रामगढ़ताल थानाक्षेत्र के रामपुर भगत चौराहा के रहने वाले महाराणा प्रताप इंटर कालेज के छात्र रहे 17 वर्षीय अंकुर शुक्‍ला पुत्र को कुछ लोगों ने बुधवार की दोपहर दो बजे के करीब चाकुओं से निर्मम तरीके से गोदकर हत्‍या कर दी. छात्र अंकुर के सिर को भी ईंट से कूचा गया है. हत्‍या इतने निर्मम तरीके से की गई है कि चाकू या किसी धारदार हथियार के हमले से शरीर और हाथ से मांस तक उखड़ गया है. इसके साथ ही आंख और शरीर पर भी बुरी तरह से चोट के निशान है.

रामगढ़ताल थानाक्षेत्र के भगत चौराहा रामपुर गांव के रहने वाले महेन्‍द्र नाथ शुक्‍ला और उनकी पत्‍नी माया शुक्‍ला को गांव के अच्‍छे लाल ने बताया कि उनके छोटे बेटे 17 वर्षीय छात्र अंकुर शुक्‍ला को धमेन्‍द्र साहनी के घर के बगल में मारकर फेंका गया है. उन्‍हें दो बजे के करीब घटना की जानकारी हुई. परिजन और गांव के लोग अंकुर को लेकर जिला अस्‍पताल पहुंचे, जहां चिकित्‍सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया. पुलिस को दी गई तहरीर में मृतक अंकुर के भाई राहुल शुक्‍ला ने गांव के रहने वाले अवधेश और सोनू पुत्रगण लक्ष्‍मी और मनीष कट्टा, जयहिन्‍द और उसके साथियों पर हत्‍या का आरोप लगाया है.

राहुल ने बताया कि पूर्व में विवाद हुआ था. बाद में समझौता हो गया. उसी विवाद को लेकर उसके भाई की हत्‍या की गई है. चाकू और धारदार हथियार के साथ ईंट से कूचकर बेरहमी से हत्‍या की गई है. उन्‍होंने बताया कि 14 जून की रात में अवधेश कुछ अन्‍य साथी चोरी की नीयत से उनके घर में घुसे थे. उम्र कम होने की वजह से माफी देकर छोड़ दिया गया था. सुबह थाने पर सूचना दी गई थी. बाद में 6 जुलाई को सुलहनामा लिखा गया था. उसी रंजिश में इस तरह की घटना को अंजाम दिया गया है. वे मूलतः गगहा थानाक्षेत्र के नर्रे खुर्द पोस्‍ट राजगढ़ के रहने वाले हैं. साल 2009 से रामपुर में मकान बनवाकर रहते हैं. निषादों का बाहुल्‍य गांव है. ब्राह्मण कम हैं. उन्‍हें धमकी भी दी जा रही थी. वे न्‍याय की उम्‍मीद लगाए हैं.

मृतक की मां माया शुक्‍ला ने बताया कि रामपुर में उनके बेटे की बेरहमी से हत्‍या कर दी गई. किसी ने बताया कि उनके लड़के का सिर फट गया है. उनका लड़का बाल कटवाने के बाद आलू खरीदकर आ रहा था. वे बताती हैं कि घात लगाकर उनके बेटे की हत्‍या की गई है. सभी रोज वहां पर देखते थे. चार भाई हैं. वे नाम नहीं जानती हैं. वहीं आरोपी बैठते रहे हैं. जहां घटनास्‍थल हैं. वो एक घंटे तक अपने बच्‍चे को लेकर छटपताती रह गईं. अब वे किसी को जानकर क्‍या करेंगी. उनका बेटा चला गया.

गोरखपुर के एसएसपी डा. विपिन ताड़ा ने बताया कि रामगढ़ताल थानाक्षेत्र में कुछ युवकों के बीच झगड़ा हुआ. जिसमें एक युवक की चाकू लगने से मौत हो गई. युवक का शव पोस्‍टमार्टम के लिए भेज दिया गया है. दूसरे पक्ष की गिरफ्तारी का प्रयास किया जा रहा है. दोनों जगह पुलिस मौजूद है. परिजनों की तहरीर पर मुकदमा दर्ज कर लिया गया है. आवश्‍यक कार्रवाई की जा रही है. दोनों पक्ष पड़ोसी हैं. दोनों का घर 100 मीटर की दूरी पर है. इनका पूर्व में भी कुछ विवाद हुआ था. जिसमें बाद में समझौता हो गया था. उसी बात को लेकर आज इस घटना का अंजाम दिया गया है.