सिटी न्यूज़

गोरखपुर में मरीज की मौत के बाद परिजनों ने हंगामे के बाद की तोड़फोड, घंटों स्ट्रेचर पर रखा रहा शव

गोरखपुर में मरीज की मौत के बाद परिजनों ने हंगामे के बाद की तोड़फोड, घंटों स्ट्रेचर पर रखा रहा शव
UP City News | Aug 19, 2022 08:56 AM IST

गोरखपुर. बिहार के सिवान जिले से बेतियाहाता स्थित मेडीहोब मल्टीस्पेशलटी हॉस्पिटल में इलाज कराने पहुंचे तीमारदारों ने मरीज की मौत के बाद हंगामा कर दिया. अस्पताल कर्मचारियों ने पुलिस को सूचना दी. सूचना पर पहुंची पुलिस ने मामले को किसी तरह से शांत कराा. पुलिस मामले की जांच में जुट गई है.

गोरखपुर कैंट इलाके के बेतियाहाता स्थित एक निजी अस्पताल में इलाज के दौरान गुरुवार की रात में मरीज की मौत हो गई. परिजनों ने आरोप लगाया है कि इलाज के दरमियान डॉक्टर ने मरीज सही जानकारी नही दी. मरीज की मौत होने के बाद डॉक्टर ने लखनऊ के लिए रेफर कर दिया. हंगामे के बीच शाम पांच बजे से रात 10ः30 बजे तक लिफ्ट के पास स्ट्रेचर पर शव रखा रहा. स्ट्रेचर भाड़े पर बुलाई गई एंबुलेंस का था. इसलिए एंबुलेंस चालक भी मौजूद था. एम्बुलेंस चालक ने भी इस बात की संस्तुति की कि मरीज की मौत हो चुकी है इसलिए लखनऊ ले जाने से कोई फायदा नहीं है.

gorakhpur news, ruckus in gorakhpur hospital, bihar news, gorakhpur police, cm yogi in gorakhpur, up city news,
मौत के बाद परेशान परिजन अस्पताल के बाहर खड़े रहे.

बता दें कि मरीज की तबीयत खराब होने पर सिवान जिला के अस्पताल में उसे एडमिट किया गया. जहां से 16 तारीख को उसे गोरखपुर में रेफर किया गया. यहां पर इलाज में डॉक्टरों ने लापरवाही बरती और मरीज की मौत हो गई. मरीज की मौत की जानकारी पर परिजन भड़क गए. उन्होंने इलाज में लापरवाही का आरोप लगाते हुए हंगामा और अस्पताल में तोड़फोड़ कर दी. अस्पताल स्टाफ की सूचना पर पहुंची पुलिस ने मामले को शांत कराया. पुलिस ने पीड़ित पक्ष से पूरी जानकारी की. पुलिस ने कहा कि अभी तक कोई तहरीर नहीं मिली है. इसलिए मुकदमा दर्ज नहीं किया गया है, फिर भी पुलिस अपनी ओर से मामले की जांच में जुट गई है.