सिटी न्यूज़

अयोध्या के नरसिंह मंदिर पर कब्जे को लेकर बमबाजी, 6 गिरफ्तार

अयोध्या के नरसिंह मंदिर पर कब्जे को लेकर बमबाजी, 6 गिरफ्तार
UP City News | Aug 18, 2022 02:59 PM IST

अयोध्या. शहर के रायंगज स्थित नरसिंह मंदिर में कब्जेदारी के विवाद में गुरुवार तड़के दो बम फेंके गए. इस घटना में किसी के घायल होने के समाचार नहीं है, लेकिन संतों में डर और आतंक बढ़ गया है. पुलिस इस घटना को पटाखा फोड़ना की बता रही है. यह मंदिर यलो जोन में है. नरसिंह मंदिर में महंत और पुजारी के बीच में विवाद चल रहा है. महंत ने पुजारी पर मंदिर में कब्जा करने का आरोप लगाया था. अयोध्या पुलिस मंदिर में लगे सीसीटीवी फुटेज खंगाल रही है.

कोतवाली प्रभारी अश्विनी पांडेय ने बताया, प्रकरण गंभीर है. इस मामले में देवराम दास वेदांती सहित दोनों पक्षों के 6 लोगों को पुलिस थाने ले आई है, जिनसे पूछताछ की जा रही है. बमबाजी की सूचना के बाद अयोध्या मे हड़कंप है. बम धमाके की आवाज एक किलोमीटर दूर तक सुनी गई. मंदिर कब्जेदारी के षड्यंत्र में पुजारी राम शंकर दास सहित तीन संतों को पहले ही धमकाकर बाहर कर दिया गया था.

मंदिर के पुजारी के अनुसार, उसे पहले से ही देवराम दास वेदांती और उनके गुर्गों की ओर धमकी दी जा रही थी. मंदिर में उसे भोजन तक नहीं दिया जा रहा था. बम मारकर हत्या करने और भय फैलाकर मंदिर से निकालने का प्रयास किया गया है. मणिराम दास जी की छावनी के उत्तराधिकारी महंत कमलनयन दास शास्त्री ने नरसिंह मंदिर की घटना पर गहरा दुख जताया है. उन्होंने डीएम नीतिश कुमार और एसएसपी प्रशांत वर्मा को फोन कर अपराधियों के खिलाफ कड़ी कार्यवाही की मांग की है. उन्होंने कहा कि देवराम दास जैसे अपराधियों को योगीराज में जेल में होना चाहिए. आश्चर्य है कि वे खुले में घूमकर बमबाजी कर रहे हैं और मंदिर कब्जा करा रहे हैं.

मंगल भवन के महंत राम भूषण दास कृपालु, नाका हनुमानगढ़ी के महंत रामदास, नित्य सरयू आरती समिति के अध्यक्ष महंत शशिकांत दास, पत्थर मंदिर के महंत मनीष दास और पंचमुखी हनुमान मंदिर के महंत कमलादास रामायणी ने घटना को लेकर कड़ी नाराजगी जताई. सभी संतों ने पुलिस से कड़ी कार्यवाही करने की मांग की है. कोतवाली अयोध्या क्षेत्र के रायगंज चौकी के पास नरसिंह मंदिर के महंत बुजुर्ग हैं. पुजारी के अनुसार, उन्हें बरगलाकर और प्रलोभन देकर गैंगस्टर देवराम वेदांती इस मंदिर पर कब्जे की नीयत से एक माह से अयोध्या में डेरा डाले हैं. उनकी आपराधिक गतिविधियों से संतों का जीवन मुश्किल हो गया है. बताते चलें कि देवराम दास वेदांती पर श्रीरामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महंत नृत्य गोपाल दास पर पर 28 मई 2001 को बमबाजी करने का मुकदमा पहले से दर्ज है. शिकायत में कहा गया था कि उनकी हत्या करने की नीयत से हमला किया गया था. पीड़ित पुजारी ने रायगंज चौकी इंचार्ज राम प्रकाश मिश्र पर भी अपराधियों से मिले होने का आरोप लगा उन्हें हटाए जाने की मांग की है.