सिटी न्यूज़

Google Search में सब पर भारी हैं योगी आदित्यनाथ, यूपी वाले सबसे ज्यादा करते हैं सर्च

Google Search में सब पर भारी हैं योगी आदित्यनाथ, यूपी वाले सबसे ज्यादा करते हैं सर्च
UP City News | Oct 14, 2021 12:07 PM IST

निखत/आदिल मंसूरी

लखनऊ. यूपी में बेशक चुनाव अगले साल फरवरी मार्च में होने हैं लेकिन यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ लगातार इंटरनेट पर यूपी वालों की पहली पसंद बने हुए हैं. यूपी सिटी न्यूज (UP Ctiy News) की टीम ने इस संदर्भ में गूगल ट्रेंड पर मौजूद बीते एक साल के डाटा की पड़ताल की तो पाया कि यूपी वाले यूपी के राजनीतिज्ञों में सबसे ज्यादा सीएम योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) को सर्च (Google Search) करते हैं. दूसरे नंबर पर सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) बने हुए हैं. जबकि तीसरे नंबर पर बसपा सुप्रीमो मायावती (Mayawati) बनी हुई हैं. चौथे स्थान पर आश्चर्यजनक रूप से कांग्रेस की प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) विराजमान हैं. सर्च में पांचवें स्थान पर भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत (Rakesh Tikait) बने हुए हैं.

यूपी वालों की पहली पसंद योगी
अगर हम किसी हफ्ते में नेट पर सर्च को आधार मानें तो बीते एक साल में किसान नेता राकेश टिकैत 24 जनवरी से 30 जनवरी के बीच सबसे ज्यादा यूपी वालों द्वारा सर्च किए गए. वहीं आधा दर्जन से ज्यादा ऐसे मौके आए बीते एक साल में जब सीएम योगी आदित्यनाथ को सबसे ज्यादा सर्च किया गया. इस साल 11 अप्रैल से 17 अप्रैल के बीच में योगी आदित्यनाथ को सबसे ज्यादा यूपी वालों ने सर्च किया. इसके अलावा उन्हें 30 मई से 5 जून तक नेट पर काफी सर्च किया गया.

वो सप्ताह जब अखिलेश निकले योगी से आगे
अगर हम सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव की बात करें तो यूपी वालों की वह नेट पर सर्च के मामले में दूसरी सबसे बड़ी पसंद हैं. बीती 27 जून से 3 जुलाई तक उन्हें सबसे ज्यादा सर्च किया है. खास बात यह कि सर्च के नंबर को अगर हम देखें तो इस एक सप्ताह में उन्हें मिले नंबर योगी आदित्यनाथ को टॉप सर्च के दौरान मिले नंबर से ज्यादा हैं. जो इस बात की ओर इशारा करते हैं कि यूपी में अगर पॉपुलेरिटी का कोई भी मुकाबला है कि इन दोनों के बीच में ही हैं. कम से कम गूगल सर्च के आंकड़े तो यही कहते हैं.

लखीमपुर मामले के बाद चर्चा में आईं प्रियंका
यूपी की राजनीति में कांग्रेस को फिर से जीवित करके के लिए पूरी ताकत लगा रहीं कांग्रेसी नेता प्रियंका गांधी को यूपी वालों की पसंद बनने के लिए लंबा सफर तय करना होगा. गूगल सर्च के आंकड़े बताते हैं कि बड़े नेताओं की सूची में वो निचले पायदान पर हैं. एक बात जो चौंकाती है कि 3 से 9 अक्टूबर के दौरान ऐसा पहली बार हुआ कि गूगल सर्च में उन्होंने दिग्गज नेताओं को पछाड़ कर दूसरे स्थान पर जगह बना ली. साफ है इसकी वजह लखीमपुर विवाद है. प्रियंका की कोशिशों पर निश्चित तौर पर यूपी वालों की नजर गई है और उन्होंने प्रियंका की गतिविधियों को नोटिस भी करना शुरू कर दिया पर सवाल ये हैं कि यह क्षणिक पॉपुलेरिटी है या फिर कोई गंभीर कोशिश अभी देखना बाकी है.

एक सी रही मायवती की नेट पर सर्च
पूरे सर्च डाटा में बसपा सुप्रीमो मायावती को लेकर नेट पर सर्च तकरीबन एक ही रफ्तार में बनी हुई है. सर्च के क्रम में वो तीसरे नंबर पर हैं पर सालभर में ऐसा कोई मौका नहीं आया जब उन्हें लेकर कोई भारी सर्च हुई हो. ये बसपा के लिए चिंता का विषय जरूर है. निश्चित तौर पर लोग उन्हें पसंद करते हैं पर उनके सर्च के नंबर बताते हैं कि उनका आंकड़ा स्थिर सा है. यानी बसपा कोई बड़ी राजनीतिक गतिविध करती हुई नजर नहीं आ रहा है जो नंबर में साफ दिख रहा है.