सिटी न्यूज़

क्या आपको पता है NAVY के भी तीन अंग होते हैं, आइए जानते हैं इससे जुड़ी रोचक बातें

क्या आपको पता है NAVY के भी तीन अंग होते हैं, आइए जानते हैं इससे जुड़ी रोचक बातें
UP City News | Jun 21, 2022 09:38 AM IST

नई दिल्ली. इन दिनों भारत में सेना सबसे ज्यादा चर्चा का विषय बनी हुई है. सेना में भर्ती के लिए केंद्र सरकार की ओर से शुरू की गई अग्निपथ योजना का विरोध पूरे देश में व्यापक स्तर पर हो रहा है. युवा प्रदर्शन कर रहे हैं और कई जगहों पर ट्रेनों और बसों आग के हवाले कर दी गई हैं. सरकारी संपत्तियों को भारी नुकसान पहुंचाया गया है. गौरतलब है कि किसी भी देश की सेना तीन अंगों से मिल कर बनी होती है. थल सेना, वायु सेना और जल सेना. आज हम बात करेंगे जल सेना की. यहां जल सेना का मतलब पूरे संगठन से है जिसमें सब तरह के जंगी जहाज और उन पर काम करने वाले नाविक, सैनिक और अफसर शामिल होते हैं. अपने देश का समुद्री व्यापार कायम रखना, नाकेबंदी करना और शत्रु की नौ शक्ति को नष्ट करना, ये सब जल सेना के कार्य हैं. जल सेना के तीन अंग होते हैं- सतह पर चलने वाला जहाज (SURFACE CRAFT), डुबकनी किश्तियां (SUBMARINE CRAFT) और हवाई अंग (FLEET AIR ARM).

युद्ध में काम आने वाले जहाज इस तरह हैं-

AIRCRAFT CARRIER यानी वायुयान वाहक

ARMED MERCHANTMAN यानी हथियारबंद व्यापारी जहाज

BATTLE CRUISER यानी यानी जंगी गश्ती जहाज

BATTLE SHIP यानी जंगी जहाज

CAPITAL SHIP यानी मुख्य जंगी जहाज

COAST GUARD MONITER यानी तटरक्षक मॉनीटर

CRUISER यानी गश्ती जहाज- ये बड़े और छोटे दोनों तरह के होते हैं.

DEPOT SHIP यानी गोदामी जहाज

DESTROYER यानी विध्वंसक जहाज

E-BOAT यानी तेज टारपीडो नौका

FLOTILLA LEADER यानी विध्वंसक नायक

GUN BOAT यानी तोप वाली नौका

MINE LAYER यानी सुरंग बिखेरू जहाज

MINE SWEEPER सुरंग समेटू जहाज

OIL TANKER यानी तेल का जहाज

REPAIR SHIP यानी मरम्मती जहाज

SUBMARINE यानी पनडुब्बी अथवा डुबकनी किश्ती

TORPEDO BOAT यानी टारपीडो किश्ती

TRAWLER यानी ट्रॉलर

जल सेना का सबसे बड़ा अफसर बेड़े का एडमिरल होता है. इसकी सहायता के लिए एक एडमिरल, एक वाइस एडमिरल और एक रियर एडमिरल होता है. हर जहाज की कमान उसके कप्तान के हाथ में होती है.