सिटी न्यूज़

देश के तमाम क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज आए जीएसटी महानिदेशालय के रडार पर, जानें क्या है इसकी वजह

देश के तमाम क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज आए जीएसटी महानिदेशालय के रडार पर, जानें क्या है इसकी वजह
UP City News | Jan 03, 2022 01:44 PM IST

नई दिल्ली. देश में क्रिप्टोकरेंसी (cryptocurrency) को लेकर एक बड़ा खुलासा हुआ है. सबसे बड़े क्रिप्टाकरेंसी एक्सचेंज (cryptocurrency exchange) के तौर पर प्रतिष्ठित वजीरएक्स (wazirx cryptocurrency) पर जीएसटी (GST) इंटेलिजेंसी विभाग ने रेड डाली थी, जिसमें करोड़ों की टैक्स चोरी का खुलासा हुआ था. अब वजीरएक्स के साथ—साथ दूसरे एक्सजेंस भी जीएसटी महानिदेशालय के रडार पर हैं और इनपर कार्रवाई हो रही है या फिर होने वाली है. हालांकि इस संबंध में निदेशालय की ओर से कोई जानकारी साझा नहीं की गई है लेकिन मीडिया रिपोर्ट की मानें तो कार्रवाई शुरू हो चुकी है.

मीडिया रिपोर्ट में दावा किया गया है कि जिस तरह से जीएसटी महानिदेशालय की कार्रवाई में वजीरएक्स के एक्सचेंज में कर चोरी का मामला पकड़ा गया है, उसी तरह से अन्य क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंजों में भी बड़े स्तर पर कर चोरी हो रही है. यही वजह है कि जीएसटी इंटेलिजेंस के अधिकारियों की ओर से क्रिप्टोकरेंसी के लेन-देन में प्रमुख भूमिका निभाने वाले कई क्रिप्टो एक्सचेंज पर सर्च कार्रवाई की जा रही है ताकि पता लगाया जा सके कि कहां—कहां चोरी हो रही है.  

इनकम टैक्स का इत्र कारोबारी मोहम्मद याकूब के घर छापा, छह करोड़ रुपये के साथ सोना भी जब्त

बता दें कि जीएसटी के मुंबई ईस्ट कमिश्नरेट के अनुसार, क्रिप्टोकरेंसी का लेन-देन का काम करने वाले देश के सबसे बड़े क्रिप्टो एक्सचेंज वजीरएक्स की काफी समय से जीएसटी चोरी कर रहा था. ये आंकड़ा करीब 40.5 करोड़ रुपयों का था. इसके चलते ही इस करोड़ों की कर चोरी का खुलासा करते अधिकारियों ने एक्सचेंज पर ब्याज और पेनाल्टी लगाने के बाद अब 49 करोड़ रुपये से ज्यादा का जुर्माना वसूल किया है. कार्रवाई 30 दिसंबर 2021 को गई थी.