सिटी न्यूज़

जब रेड सिग्नल को ठेंगा दिखा ट्रेन दौड़ा ले गया ड्राइवर, स्टेशन मास्टर हैरान, फिर ये हुआ...

जब रेड सिग्नल को ठेंगा दिखा ट्रेन दौड़ा ले गया ड्राइवर, स्टेशन मास्टर हैरान, फिर ये हुआ...
UP City News | Nov 30, 2021 07:38 AM IST

बरेली. ट्रेन में यात्रा कर रहे सैंकड़ों यात्रियों की सांसे उस समय थम गईं जब फिरोजपुर से धनबाद जाने वाली गंगा सतलज एक्सप्रेस (13308) के लोको पायलट और सहायक लोको ने रेड सिग्नल के बाद भी ट्रेन को 60 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से दौड़ा दिया. सीबीगंज स्टेशन मास्टर की सूचना पर जंक्शन लोको लॉबी की जांच टीम ने आरोपी लोको पायलट और सहायक लोको को गाड़ी से नीचे उतारा. टीम ने दोनों का मेडिकल कराने के बाद बयान दर्ज किए. संयुक्त जांच टीम रिपोर्ट में मिली लापरवाही के आधार पर दोनों लोको पालयट को सस्पेंड कर दिया गया, जबकि गार्ड के खिलाफ जांच के आदेश हुए हैं. बरेली जंक्शन से दूसरे चालक और सहायक लोको पालयट की ड्यूटी लगाकर ट्रेन को रवाना कराया गया.

सोमवार यानी 29 नवंबर 2021 की सुबह गंगा सतलज एक्सप्रेस (13308) के लोको पायलट और सहायक लोको पायलट की लापवरवाही से बड़ा हादसा हो सकता था लेकिन समय पर मिली सूचना पर पहुंची रेलवे की जांच टीम ने गंगा सतलज एक्सप्रेस के लोको पायलट और सहायक लोको पायलट गाड़ी से नीचे उतार लिया.
सोमवार सुबह करीब सात बजे मुरादाबाद की ओर से आ रही गंगा सतलज एक्सप्रेस (13308) के लोको पायलट और सहायक लोको पायलट की घोर लापरवाही की. ट्रेन को सीबीगंज में रोका जाना था. लोको पायलट ने रेड सिग्नल के बावजूद ट्रेन को तेज रफ्तार से दौड़ा दिया. ट्रेन होम सिग्नल को ओवरशूट करते हुए बरेली की ओर निकल गई. स्टेशन मास्टर ने रेड सिग्नल ओवरशूट की सूचना रेल कंट्रोल मुख्यालय को दी. बरेली जंक्शन पर 7:25 बजे ट्रेन पहुंची तो यहां पहले से ही आरपीएफ और लोको लॉबी की जांच टीम मौजूद थी. आरपीएफ ने लोको पायलट सुरेंद्र कुमार और सहायक लोको पालयट बिजेंद्र सिंह को हिरासत में ले लिया. दूसरे लोको पालयट को ड्यूटी देकर ट्रेन को रवाना कराया गया.

मुरादाबाद से भी जांच टीम बरेली जंक्शन पहुंच गई. करीब पांच घंटे तक जांच चली. स्टेशन अधीक्षक, आरपीएफ, लोको लॉबी इंस्पेक्टर की संयुक्त टीम ने जांच कर मुरादाबाद मंडल ऑफिस को रिपोर्ट दी. डीआरएम (मुरादाबाद) अजय नंदन के निर्देश पर सीनियर डीओएम ने आरोपी लोको पायलट सुरेंद्र कुमार और सहायक लोको पायलट बिजेंद्र को सस्पेंड कर दिया. इस मामले में एक और जांच को कमेटी बनाई गई है.जो आगे की जांच करेगी. लोको पायलट, सहायक लोको पायलट और गार्ड को मुख्यायल में तलब किया गया है.