सिटी न्यूज़

तौकीर रजा ने किया कांग्रेस का समर्थन, अखिलेश यादव को बताया गैर जिम्मेदार नेता

तौकीर रजा ने किया कांग्रेस का समर्थन, अखिलेश यादव को बताया गैर जिम्मेदार नेता
UP City News | Jan 17, 2022 04:37 PM IST

लखनऊ. उत्तर प्रदेश चुनाव में बरेली में मुस्लिम धर्म संसद बुलाने वाले मौलाना तौकीर रजा खान (Maualana Tauqeer Raza Khan) की इत्तेहाद -ए-मिल्लत काउंसिल (IMC) कांग्रेस (Congress) का समर्थन करेगी. इत्तेहाद मिल्लत काउंसिल, बरेली के राष्ट्रीय अध्यक्ष मौलाना तौकीर रजा ने यूपी की राजधानी लखनऊ में सोमवार को इसका एलान किया. वहीं समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव को बेहद गैर जिम्मेदार नेता बताया है. इस दौरान तौकीर रजा खान ने कहा कि विधानसभा चुनाव में अपनी पार्टी की ओर से कांग्रेस को बिना शर्त समर्थन देने की घोषणा की है.

मौलाना तौकीर रजा ने लखनऊ में प्रदेश कांग्रेस कमेटी के कार्यालय में मीडिया को भी संबोधित किया. मौलाना तौकीर रजा ने कांग्रेस अल्पसंख्यक विभाग के राष्ट्रीय संयोजक आजम बेग तथा यूपी कांग्रेस अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ के हेड शाहनवाज आलम के साथ प्रेस कान्फ्रेंस की. बरेली में आला हजरत से ताल्लुक रखने वाले मौलाना तौकीर रजा खान ने कहा कि समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव एक गैर जिम्मेदार नेता हैं. उनके हाथ गैर जिम्मेदार हाथ हैं. हम किसी भी कीमत पर प्रदेश की बागडोर गैर जिम्मेदाराना हाथों में नहीं जाने दे सकते हैं. अखिलेश यादव तो देश व प्रदेश के मुसलमानों के लिए भाजपा से भी खराब हैं. तौकीर रजा ने कहा कि प्रदेश को यादववाद और जाटववाद के बजाय मानववाद की जरूरत है. हमने अखिलेश यादव से कहा की 2012 में जो उनकी सरकार ने गलतियां की, उसे सुधारें लेकिन हमने उन्हें गैरजिम्मेदार पाया.

अभी हाल में ही हरिद्वार में हुई धर्म संसद की प्रतिक्रिया में इत्तेहाद-ए-मिल्लत कौंसिल (IMC) की ओर से शुक्रवार को बरेली में मुस्लिम धर्म संसद बुलाई थी. तब मौलाना तौकीर रजा ने बरेली के इस्लामिया ग्राउंड में आयोजित मुस्लिम धर्म संसद में कहा कि मैं हिंदू भाइयों से कहना चाहता हूं कि रावण कौन था? क्या रावण मुसलमान था? कृष्ण ने कंस का वध किया? क्या कंस मुसलमान था? पांडवों ने कौरवों का वध किया क्या कौरव मुसलमान थे? मैं हिंदुओं को बताना चाहता हूं कि तुम्हें कौन सी पुस्तक पढ़ाई गई है, जिसमें लिखा है कि हिंदू और मुसलमानों को लड़ना चाहिए. हिंदू समाज को यह बताना चाहता हूं कि जिसे धर्म संसद नाम दिया गया वह अस्ल में धर्म संसद नहीं थी. किसी धर्म में यह नहीं सिखाया जाता है कि लोगों का कत्लेआम शुरू कर दो. लोगों की बुराई शुरू कर दी.

मुस्लिम धर्म संसद में मौलाना तौकीर रजा बोले- हमें उस दिन से डर लगता है जिस दिन हमारा नौजवान कानून अपने हाथ में ले लेगा