सिटी न्यूज़

उपमुख्यमंत्री का फोन देखकर चौंके बरेली के आईजी व एसएसपी, जानिए पूरा मामला

उपमुख्यमंत्री का फोन देखकर चौंके बरेली के आईजी व एसएसपी, जानिए पूरा मामला
UP City News | Feb 11, 2021 10:49 PM IST

बरेली. उत्तर प्रदेश के बरेली जिले के आईजी और एसएसपी को कानून मंत्री और उप मुख्यमंत्री का निजी सचिव बनकर कॉल करने वालों से परेशान हैं. लगातार काम के लिए फोन कॉल आने के बाद अधिकारियों को शक हुआ तो कॉल करने वालों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर उनकी तलाश शुरू कर दी गई है. पहले एक कॉल एक दरोगा के सिफारिश के लिए बरेली रेंज के आईजी राजेश पांडे को कानून मंत्री बृजेश पाठक बन कर की गई. उसके अगले दिन बरेली के एसएसपी रोहित सिंह सजवान को उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री का निजी सचिव बताकर एक मुकदमा दर्ज कराने की सिफारिश की गई. जिसके बाद आईजी राजेश पांडे और एसएसपी रोहित साजवान को कॉल करने वाले के खिलाफ बरेली की कोतवाली में मुकदमा दर्ज कर उसकी तलाश शुरू कर दी है.

बता दें कि कॉल करने वाले की बातचीत करने के अंदाज से जब दोनों अधिकारियों को शक हुआ तो जांच की गई. तो पता चला की कानून मंत्री बन कर कॉल करने वाला फर्जी व्यक्ति झांसी का रहने वाला है. जिसके बाद बरेली की कोतवाली में मामला दर्ज कर उसकी तलाश शुरू कर दी है. दरअसल बरेली रेंज के आईजी राजेश पांडे के मोबाइल पर 2 दिन पहले एक अज्ञात व्यक्ति ने फोन कर एक दरोगा की सिफारिश की और खुद को उत्तर प्रदेश सरकार में कानून मंत्री बृजेश पाठक बताया. बातचीत के लहजे से आईजी राजेश पांडे को शक हुआ, तो उन्होंने उसकी पड़ताल शुरू की.

दूसरा मामला बरेली के एसएसबी रोहित सिंह सजवान के साथ हुआ, जहां एक व्यक्ति ने अपने आप को उप मुख्यमंत्री का निजी सचिव बताते हुए एक मुकदमा दर्ज करने की पैरवी की. जिसने बरेली के एसएसपी रोहित सिंह साजवान को कई बार लगातार फोन कर एक छोटे से मामले में मुकदमा दर्ज करने की सिफारिश की. जिसके बाद अधिकारी का माथा ठनका और पता लगाया तो वह फर्जी निकला. कॉल करने वाले अपने ट्रूकॉलर पर उप मुख्यमंत्री का फोटो और उप मुख्यमंत्री का निजी सचिव लिखा था. वही जब एसएसपी को कॉल करने वाले पर शक हुआ तो जब उसकी जांच पड़ताल की गई. तो वो बरेली का ही रहने वाला निकला जिसकी पुलिस अब सरगर्मी से तलाश कर रही है.