सिटी न्यूज़

Gang Rape मामले में पुलिस ने लगाई क्लोजर रिपोर्ट, न्याय न मिलने पर पीड़िता ने खाया जहर

Gang Rape मामले में पुलिस ने लगाई क्लोजर रिपोर्ट, न्याय न मिलने पर पीड़िता ने खाया जहर
UP City News | Nov 24, 2022 08:12 AM IST

पीलीभीत. उत्तर प्रदेश पीलीभीत (Pilibhit News) में चार दिन पहले डेढ़ साल पुराने एक मामले में पुलिस द्वारा क्लोजर रिपोर्ट दाखिल किए जाने के बाद सामूहिक दुष्कर्म पीड़िता ने बुधवार को जिला पुलिस मुख्यालय के बाहर जहर खाकर जान देने की कोशिश की. उसने अपने साथ गैंगरेप के आरोपियों के खिलाफ जांच में "खामियों" का आरोप लगाया. पुलिस ने कहा कि महिला अपनी पांच साल की बेटी के साथ पुलिस मुख्यालय पहुंची और जहर खा लिया था. पीलीभीत सदर सर्कल के सर्कल अधिकारी सतीश चंद्र शुक्ला ने कहा, "पुलिस ने तुरंत उसे जिला अस्पताल पहुंचाया था.

जिला अस्पताल में आपातकालीन ड्यूटी पर तैनात चिकित्सा अधिकारी डॉ आरके सागर ने कहा, "महिला को गंभीर हालत में लाया गया था. वह फिलहाल खतरे से बाहर है."कोर्ट के आदेश के बाद महिला की शिकायत पर 3 मई 2021 को इस मामले में प्राथमिकी बीसलपुर कोतवाली थाने में दर्ज की गयी थी. इसके बाद बीसलपुर कोतवाली क्षेत्र के रिछौला घासी गांव के चार लोगों पर आईपीसी की धारा 376 (बलात्कार), 377 (अप्राकृतिक यौन संबंध), 342 (गलत तरीके से बंधक बनाना), 323 (स्वेच्छा से चोट पहुंचाना), 504 (जानबूझकर अपमान), 506 (आपराधिक) के तहत मामला दर्ज किया गया है.

हालांकि मामले में किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई. महिला ने 2021 में अपनी पुलिस शिकायत में उल्लेख किया था कि वह नौकरी की तलाश कर रही थी क्योंकि उसके पति ने दो साल पहले उसे और उसकी बेटी को घर से निकाल दिया था. वह अपने रिश्तेदारों के साथ बीसलपुर में रह रही थी, जब 26 जनवरी, 2021 को मुख्य आरोपी जुगेंद्र पाल ने उसे अपने खेत में नौकरी की पेशकश की थी. वहां काम करने के दौरान, उसने आरोप लगाया कि दो खेत मालिकों - जुगेंद्र द्वारा उसके साथ बार-बार बलात्कार किया गया. पीड़िता ने यह भी आरोप लगाया था कि बाद में उसे हरियाणा में "सेक्स रैकेट" चलाने वाले एक व्यक्ति को बेच दिया गया था. उसने कहा कि वह किसी तरह मई में हरियाणा से भागने में सफल रही, बीसलपुर पहुंची और मामले में शिकायत दर्ज कराई.

देवरिया में जलाई जा रही है पराली, आसमान तक उठ रहा है धुआं, देखिए तस्वीरें