सिटी न्यूज़

पीलीभीत के 7 गांवों का नक्शा तहसील से गायब, भू-माफिया उठा रहे हैं लाभ

पीलीभीत के 7 गांवों का नक्शा तहसील से गायब, भू-माफिया उठा रहे हैं लाभ
UP City News | Jun 24, 2022 03:12 PM IST

पीलीभीत: सरकारी कार्य में लापरवाही बरतने का एक और मामला उजागर हुआ है. तहसील प्रशासन ने एक बड़ा कारनामा कर दिखाया है. पीलीभीत (Pilibhit) की पूरनपुर (pooranpur) तहसील में 7 गांवों के नक्शे गायब हो गए हैं. नक्शे कहाँ गए ये किसी को नहीं पता. नक्शा न होने का फायदा उठाकर भू- माफिया सरकारी जमीनों (Government Land) पर कब्जा करने में जुटे हैं. इस पूरे मामले को लेकर प्रधान ने डीएम (DM) को लिखित शिकायत भेजी है. मामले पर अबतक कोई कार्रवाई नहीं की गई है.

पूरनपुर तहसील के गांव खमरिया पट्टी असम हाईवे से सटा है. इसीलिए यहां जमीन खासी महंगी हैं. इस गांव का भू मानचित्र करीब दो दशक पहले गुम हो गया था. पहले नक्शे की तलाश हुई लेकिन जब पता नहीं चला तो उसे जिला मुख्यालय और राजस्व परिषद बोर्ड में तलाश कराया गया. मगर नक्शा वहां भी नहीं मिला. यही हाल तहसील के और 6 गाँव का है. क्षेत्र की नेपाल सीमा से सटे गांव सिंघाड़ा उर्फ टाटरगंज, शारदा पार के गांव बैल्हा, बमनपुर भागीरथ, शारदा नदी के इस पार के गांव खमरिया कलां, मुजफ्फरनगर, नवदिया मुस्तकीन मुजफ्फरनगर का नक्शा भी गायब है.

इस का सीधे तौर पर फायदा भू-माफ़िया उठा रहे हैं. नक्शा न होने के कारण सरकारी जमीन को भू माफ़िया अपने कब्जे में करते जा रहे हैं. नक्शे न होने के कारण जमीनों की पैमाइश रुकी है, जबकि गांव के लोग चकरोड और रास्तों को काटकर खेतों में मिला रहे हैं. लेखपाल नक्शा न होने की बात कहकर पल्ल्ला झाड़ लेते हैं. इस लापरवाही का परिणाम यह है कि अब गांव की चारागाह, ग्राम समाज की जमीनों और तालाबों पर भी कब्जे की कोशिश तेजी से हो रही है. इस पूरे मामले को लेकर प्रधान ने डीएम को लिखित शिकायत भेजी है. मामले पर अबतक कोई कार्रवाई नहीं की गई है.