सिटी न्यूज़

बरेली: डीएम के आदेश से अधिकारी परेशान, 12 दिन में सड़कों को करें गड्ढा मुक्त, नहीं कार्रवाई को तैयार रहें

बरेली: डीएम के आदेश से अधिकारी परेशान, 12 दिन में सड़कों को करें गड्ढा मुक्त, नहीं कार्रवाई को तैयार रहें
UP City News | Nov 18, 2021 08:57 AM IST

बरेली. उत्तर प्रदेश के बरेली जिले की सड़कों का बुरा हाल है. जलभराव और गहरे गड्ढों के कारण लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है. लगातार पहुंच रही शिकायतों के बाद जिलाधिकारी ने सख्त रुख अख्तियार करते हुए अधिकारियों को चेतावनी दी है कि अगर 30 नवंबर तक सड़कें गड्ढा मुक्त नहीं हुईं तो कार्रवाई को तैयार रहें. डीएम के इस फरमान के बाद संबंधित विभागों के अधिकारियों में हड़कंप मच गया है.
जिलाधिकारी मानवेंद्र सिंह ने जनपद की सड़कों का गड्ढा मुक्त के कार्य को प्रत्येक दशा में 30 नवम्बर तक पूर्ण करने के निर्देश दिए. उन्होंने कहा कि यह कार्य नियत समय पर हर हाल में पूर्ण किया जाए.ज़िलाधिकारी ने बुधवार की शाम यानी 17 नंबर 2021 को अपने कार्यालय में लोक निर्माण विभाग द्वारा जनपद की सड़कों की प्रगति की समीक्षा बैठक की अध्यक्षता की. बैठक मे अधिशासी अभियंता लोक निर्माण विभाग, प्रांतीय खंड ने जिलाधिकारी को अवगत कराया कि सड़क गड्ढा मुक्त का कार्य 70 प्रतिशत पूर्ण हो गया है और यह कार्य लगातार चल भी रहा है.
बैठक में मुख्य विकास अधिकारी चंद्र मोहन गर्ग,अधिशासी अभियंता लोक निर्माण विभाग प्रांतीय खंड नारायण सिंह, मुख्य अभियंता नगर निगम भूपेंद्र कुमार सिंह, विकास प्राधिकरण अधिशासी अभियंता आशु मित्तल, उपनिदेशक निर्माण मंडी परिषद गिरधारी लाल, जिला गन्ना अधिकारी श्री पी एन सिंह, अपर मुख्य अधिकारी जिला पंचायत सहित अन्य संबंधित अधिकारी मौजूद रहे.
ज़िलाधिकारी ने लोक निर्माण विभाग तथा अन्य सम्बंधित विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि सड़कों की मरम्मत व गड्ढा मुक्त अभियान में मानक के अनुसार गुणवत्ता का विशेष ध्यान रखा जाए इससे संबंधित कार्यों में किसी भी प्रकार की शिकायत या गुणवत्ता में कमी नहीं मिलनी चाहिए. जिलाधिकारी ने मुख्य विकास अधिकारी को निर्देश दिए की जिन सड़कों का गड्ढा मुक्त कार्य कराए जा रहा है, उन सड़कों का टीम बनाकर निरीक्षण कराएं और स्वयं भी जाकर देखें कि कार्य मानक अनुसार हुआ है या नहीं. नहर विभाग, जिला पंचायत, गन्ना, मंडी परिषद, आदि विभागों द्वारा गड्ढा मुक्त होने वाली सड़कों का निरीक्षण नहीं किए जाने पर जिलाधिकारी ने नाराजगी व्यक्त करते हुए निर्देश दिए कि इन सड़कों का निरीक्षण कर वास्तविक रिपोर्ट उपलब्ध कराई जाए और उन सड़कों को गड्ढा मुक्त कराए जाने की शीघ्र कार्रवाई की जाए. बैठक में नहर विभाग के अधिकारी अनुपस्थित होने पर ज़िलाधिकारी ने अलग से बैठक करने के निर्देश दिए.