सिटी न्यूज़

कासगंज के मिशन अस्पताल में आक्सीजन की कमी, तीमारदारों में मचा हड़कंप

कासगंज के मिशन अस्पताल में आक्सीजन की कमी, तीमारदारों में मचा हड़कंप
UP City News | May 05, 2021 07:03 AM IST

कासगंज. कोरोना मरीजों के लिए शहर में मांग के मुताबिक आपूर्ति नहीं होने से मगलवार की रात मिशन अस्पताल के स्टाफ ने भर्ती मरीजों के परिजनों से कह दिया अपने मरीजों को कहीं भी ले जाओ, आक्सीजन कभी भी खत्म हो सकती है. इस सूचना के बाद अस्पताल में मरीजों के तीमारदारों में हड़कंप मच गया. इसे लेकर किसी ने डीएम कासगंज को ट्वीट कर दिया. देर रात अधिकारी आक्सीजन की कमी को दूर करने की कोशिश में जुटे रहे. बता दें कि मिशन अस्पताल में 22 कोरोना संक्रमित मरीज भर्ती हैं.
कासगंज में कोरोना के बढ़ते संक्रमण के बीच कोविड अस्पतालों में ऑक्सीजन की सप्लाई समाप्त होने का खतरा है. कोविड अस्पताल मिशन अस्पताल में मंगलवार की रात को आक्सीजन आपूर्ति खत्म होने की सूचना भर्ती कोरोना मरीजों के तीमारदारों को दी गई. अस्पताल प्रबंधन ने तीमारदारों से कह दिया कि अपने मरीज को कहीं भी ले जा सकते हो. सिर्फ बुधवार की सुबह तक के लिए ही आक्सीजन बची हुई है. ऐसे में अगर मरीजों को कहीं और नहीं ले गए तो मरीजों की जान पर आ सकती है. इसके बाद सभी मरीजों के तीमारदार अस्पताल के गेट पर जमा हो गए. नरेंद्र पालीवाल का कहना है उनकी पत्नी ऑक्सीजन सपोर्ट पर है,अस्पताल ने सूचना दी है कि अपने मरीज को कहीं और शिफ्ट करा दे. अब हम कहां पर इन्हें ले जाएं. हालत ठीक नहीं है. प्रशासन को आक्सीजन का इंतजाम करना चाहिए. वहीं अन्य मरीजों के परिजनों ने भी प्रशासन से आक्सीजन सप्लाई कराने की मांग की है जिससे मरीजों का इलाज बेहतर तरीके से हो सके.
क्यों पड़ रही है ऑक्सीजन की जरूरत
दरअसल कोरोना वायरस की दूसरी लहर में मरीजों को सांस लेने में तकलीफ सबसे अधिक हो रही है. आईसीएमआर के अनुसार नई लहर में मरीजों के लक्षणों में बदलाव हुआ है. पहले बुखार, गले में दर्दए मांस पेशियों में दर्द इत्यादि सबसे अधिक था लेकिन अभी 54 फीसदी से भी ज्यादा मरीजों को संक्रमण होने के बाद सांस लेने में तकलीफ हो रही है. ऐसे में ऑक्सीजन की जरूरत भी बढ़ रही है. मरीजों का बाइपेप, केनुल नेजल व वेंटिलेटर पर हाई फ्लो ऑक्सीजन उपकरणों से उपचार हो रहा है जिसमें ऑक्सीजन खपत बढ़ गई है. इसके कारण अस्पतालों में ऑक्सीजन किल्लत गहरा गई है.