सिटी न्यूज़

पूर्व पंचायत अध्यक्ष पर हुई कार्रवाई से मुश्किल में आए सैकड़ों छात्र व किसान, जानें कैसे

पूर्व पंचायत अध्यक्ष पर हुई कार्रवाई से मुश्किल में आए सैकड़ों छात्र व किसान, जानें कैसे
UP City News | Nov 25, 2022 10:31 AM IST

कासगंज. कासगंज (Kasganj News) प्रशासन और पुलिस ने 16 नवंबर को भरगैन नगर पंचायत के पूर्व अध्यक्ष और उनके परिवार के सदस्यों की 100 करोड़ रुपये से अधिक की संपत्ति जब्त कर ली है. गुजरात के वड़ोदरा से अपना कारोबार चलाने वाले नफीस अहमद उर्फ ​​कालिया पर इस साल की शुरुआत में गैंगस्टर एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया था. जब्त संपत्तियों में दो कॉलेज और एक कोल्ड स्टोरेज सुविधा शामिल है.

राजा महिंद्रा सिंह स्टेट यूनिवर्सिटी, अलीगढ़ से संबद्ध सीलबंद हाजिन सादिका बेगम महाविद्यालय (HSBM) में विभिन्न पाठ्यक्रमों में 1700 से अधिक छात्र नामांकित हैं और अब वे अधर में हैं. कॉलेज के प्राचार्य संजय दीक्षित ने कहा, "कॉलेज परिसर को सील कर दिया गया है. कोई भी प्रवेश नहीं कर सकता है. हम जिला प्रशासन से अनुरोध करते हैं कि हमें छात्रों के हित में काम करने की अनुमति दी जाए.'

कॉलेज के बीए के एक छात्र ने कहा, "सेमेस्टर परीक्षाएं 1 दिसंबर से शुरू होने वाली हैं और हम एक अंधकारमय भविष्य की ओर देख रहे हैं. हमें अभी तक एडमिट कार्ड नहीं मिला है. पिछले सप्ताह से पढ़ाई बुरी तरह प्रभावित हुई है." साथ ही आरोपी के स्वामित्व वाले शिक्षक प्रशिक्षण स्कूल में भी करीब 160 छात्रों का नामांकन है, जिसे भी बंद कर दिया गया है.

इस बीच, बंद कोल्ड स्टोरेज केंद्र में आलू के 10,000 पैकेट (50 किलो प्रत्येक) हैं जो 300 से अधिक किसानों के हैं, जो अपनी उपज को बचाने के लिए विभिन्न सरकारी कार्यालयों के चक्कर लगा रहे हैं. कोल्ड स्टोरेज प्रबंधक शैलेंद्र यादव ने कहा, "पिछले सप्ताह पुलिस द्वारा सुविधा को सील करने के बाद से पिछले आठ दिनों से केंद्र में मशीनें काम नहीं कर रही हैं. इस स्थिति के परिणामस्वरूप किसानों की उपज खराब हो सकती है."

पुलिस के मुताबिक, अहमद के खिलाफ एटा में 13 आपराधिक मामले दर्ज हैं और उसके खिलाफ गैंगस्टर एक्ट के तहत प्राथमिकी भी दर्ज की गई है. पिछले महीने, उन्होंने अपने दो बेटों-अहमद हुसैन और आरिफ खान के साथ अदालत में आत्मसमर्पण किया और बाद में उन्हें कासगंज जेल भेज दिया गया. वहीं इस संबंध में डीएम हर्षिता माथुर ने कहा, "गैंगस्टर एक्ट के तहत कार्रवाई करते हुए आरोपी द्वारा नाजायज तरीके से अर्जित की गई संपत्तियों को सील कर दिया गया है. छात्रों और किसानों की चिंताओं को दूर किया जा रहा है."

Varanasi News : ड्रग्स लेने के आरोप वाराणसी के डॉक्टर महिला मित्र के साथ गिरफ्तार