सिटी न्यूज़

सात दिन से लापता ग्रामीण का शव खेत में मिला, मौत का कारण स्पष्ट नहीं

सात दिन से लापता ग्रामीण का शव खेत में मिला, मौत का कारण स्पष्ट नहीं
UP City News | Jul 22, 2021 07:36 PM IST

अलीगढ़. उत्तर प्रदेश के जिले अलीगढ़ में मडराक के गांव आसना अजीतपुर स्थित बाजरा के खेत में एक ग्रामीण की लाश मिली. ग्रामीण एक सप्ताह से लापता बताया जा रहा था. ग्रामीणों की सूचना पर मौके पर पुलिस पहुंच गई है. पुलिस ने मौत का कारण जानने के लिए शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है. पुलिस का कहना है कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही मौत के कारणों का पता चल सकेगा. फिलहाल पुलिस ने घटनास्थल से साक्ष्य जुटाए हैं.

जानकारी के अनुसार मडराक के गांव खेड़िया ख्वाजाबुद्धा निवासी महीपाल सिंह (45) 16 जुलाई की रात घर से निकला लेकिन देर रात तक वह घर नहीं पहुंचा. काफी तलाशने के बाद भी परिजनों को जब उसका कोई सुराग नहीं लगा. तो परिजनों ने इसकी सूचना इलाका पुलिस को दी. गुरुवार सुबह गांव आसना अजीतपुर के लोग खेतों की ओर निकले, जिन्होंने देखा कि सुरेश चंद्र के बाजरा के खेत में एक शव पड़ा था. कुछ ही देर में मौके पर ग्रामीणों की भीड़ एकत्र हो गई और शव की शिनाख्त करने का प्रयास करने लगे. लेकिन शव काफी पुराना होने के कारण ग्रामीण उसे पहचान नहीं सके।

इस बीच भगवती प्रसाद भी बाजारा के खेत में पहुंचे, जहां उन्होंने शव की शिनाख्त अपने भाई महीपाल के रूप में की. शव मिलने की सूचना पर महीपाल के परिजन भी मौके पर पहुंच गए. शव देखते ही परिजनों में गम का माहौल हो गया और सभी विलाप करने लगे. मौके पर पहुंची पुलिस ने शव कब्जे में करते हुए पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया. वहीं मौके से कुछ साक्ष्य भी एकत्र किए. एसओ मडराक ने बताया कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही मौत के कारणों की जानकारी हो सकेगी. उसी के आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी.

कोडियागंज के युवक की मौत
अलीगढ़. अकराबाद के कस्बा कोडियागंज निवासी आमिर (17) का बुधवार सुबह छोटी बहन से मोबाइल को लेकर विवाद हो गया था, छीना झपटी में मोबाइल गिरकर टूट गया. इस बीच छोटे भाई ने आमिर से कुछ कह दिया, जिस पर आमिर उसे पीटने के लिए द़ौडा तभी पिता साकिर ने उसे डांट दिया. पिता की डांट से क्षुब्ध आमिर घर से निकल गया और कुछ देर बाद लौटा तो उसकी तबियत खराब होने लगी. इसकी जानकारी मिलते ही परिजनों ने उसे इलाज के लिए मेडिकल कालेज पहुंचाया, जहां उसकी इलाज के दौरान मौत हो गई.