सिटी न्यूज़

तो क्या सुल्तानपुर का अंशुमन मिश्रा देश का सबसे गरीब आदमी है? एक सरकारी कागज पर मच रहा बवाल

तो क्या सुल्तानपुर का अंशुमन मिश्रा देश का सबसे गरीब आदमी है? एक सरकारी कागज पर मच रहा बवाल
UP City News | Nov 27, 2021 11:27 AM IST

सुल्तानपुर. जिले में एक अनोखा मामला सामने आया है. अभी तक आपने देश के अरबपतियों के बारे में तो सुना होगा लेकिन आज हम आपको बताने जा रहे हैं देश के सबसे गरीब आदमी के बारे में. जी हां! सुल्तानपुर का रहने वाला अंशुमन मिश्रा (Anshuman Mishra) देश का सबसे गरीब आदमी है, जिसकी आमदनी महज 105 रुपये सालाना है. हालांकि यह बात हम और अंशुमन मिश्रा नहीं कह रहे हैं. यह बात उसका आय प्रमाणपत्र (Income Certificate) बता रहा है, जिस पर बकायदा तहसलदार के हस्ताक्षर हो रहे हैं. प्रमाणपत्र (Income Certificate) सामने आने क बाद से ही बवाल मचा हुआ है. फिलहाल एसडीएम ने मामले को गंभीरता से लेते हुए आय प्रमाणपत्र (Income Certificate) निर्गत करने वाले लेखपाल को निलंबित कर दिया है.

UP City News, UP Hindi News, Sultanpur News, Income Certificate, Country's poor man, Anshuman Mishra, Investigation, Suspension, upnews, news, uttarpradesh, uppolice, breakingnews, hindinews, dailynews, uttarpradeshnews, up, todaynews

यह पूरा मामला जिले की जयसिंहपुर तहसील क्षेत्र के अन्नपूर्णा नगर गांव का है. गांव निवासी अंशुमन मिश्रा (Anshuman Mishra) पुत्र प्रदीप कुमार मिश्रा को विगत दिनों विद्यालय में आय प्रमाणपत्र (Income Certificate) की आवश्यकता थी. इस पर ​उसने अपने घर के नजदीकी जनसुविधा केंद्र पर आय प्रमाणपत्र के लिए आवदेन किया. इस पर हल्का लेखपाल देवमणि उपाध्याय ने रिपोर्ट लगाते हुए दर्शाया कि आवेदक और उसके परिवार की मासिक आय महज 8 रुपये 75 पैसा और वार्षिक आय 105 रुपये है. इस प्रमाणपत्र (Income Certificate) पर जयसिंहपुर तहसीलदार हृदयराम तिवारी ने भी हस्ताक्षर किए और 14 नवंबर को आय प्रमाणपत्र जारी कर दिया गया.

ये भी पढ़ें: अजब है ये डिबिया, इसके अंदर मौजूद है 2000 साल पुरानी क्रीम, लगाने वाली महिला के अंगुलियों के निशान भी मौजूद

विगत 17 नवंबर को अंशुमन मिश्रा (Anshuman Mishra) अपना प्रमाणपत्र (Income Certificate) लेने जनसुविधा केंद्र पहुंचा तो वह प्रमाणपत्र में अपनी आय देखकर दंग रह गया और उसने अपने आसपास के लोगों को मामले की जानकारी दी. इसके बाद यह बात आग की तरह पूरे जिले और सोशल मीडिया पर वायरल हो गई. मामले की जानकारी पर एसडीएम भी दंग रह गए. मामले को गंभीरता से लेते हुए एसडीएम ने जांच के आदेश दिए. जांच में दोषी पाए जाने पर लेखपाल देवमणि उपाध्याय को सस्पेंड कर दिया गया है.