सिटी न्यूज़

साहब बेटे से बहुत परेशान हूं, कुछ करिए, कोर्ट ने दर्द सुना और फिर सुना दिया एतिहासिक फैसला

साहब बेटे से बहुत परेशान हूं, कुछ करिए, कोर्ट ने दर्द सुना और फिर सुना दिया एतिहासिक फैसला
UP City News | Oct 13, 2021 08:16 AM IST

कानपुर. उत्तर प्रदेश के कानपुर में बिल्हौर तहसील में तैनात एक चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी की हरकतों से परेशान होकर उसके माता-पिता ने एसडीएम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया. माता-पिता का आरोप था कि बेटा उन्हें परेशान करता है. शराब के नशे में घर में आता है और घर से निकाले की धमकी देता है. दोनों ने कोर्ट से न्याय की गुहार लगाई. कोर्ट में दाखिल हुए परिवाद पर सुनवाई करते हुए बेटे के घर में प्रवेश पर रोक लगा दी है. साथ ही कहा कि उसे ही माता-पिता की देखरेख और दवा आदि का ध्यान भी रखना होगा.

इस संबंध में कोर्ट ने बिधनू पुलिस को मामले में कार्रवाई कराने का आदेश दिया है. दरअसल, रक्षा विभाग से सेवानिवृत्त बुजुर्ग कर्मचारी ब्रह्मादीन और उनकी पत्नी बसंती देवी गोपाल नगर बिधनू थानाक्षेत्र के निवासी हैं. उनका बेटा मनोज कुमार बिल्हौर तहसील में चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी है. माता—पिता का आरोप है कि उनका बेटा नशे में धुत होकर गाली-गलौज करता है. जबरन मकान हड़पने की कोशिश में लगा है. इस आरोप लेकर दोनों ने एसडीएम सदर कोर्ट में वाद दाखिल कर दिया.

इसकी सुनवाई एसडीएम सदर दीपक पाल ने की. कोर्ट में बुजुर्ग माता-पिता ने कहा कि बेटे मनोज कुमार को संपत्ति व परिवार से बेदखल कर चुके हैं. इसकी जानकारी मजिस्ट्रेट व कोर्ट को दे दी गई है. अब बेटे को संपत्ति से भी बेदखल किया जाए. वह आए दिन आकर नशे में गालीगलौज करता है और घर से निकालने की धमकी देता है. इसके बाद कोर्ट ने सुनवाई करके फैसला दिया. यह भी कहा है कि अगर आदेश का पालन न हुआ तो कार्रवाई होगी. बिधनू पुलिस आदेश का पालन कराएगी.