सिटी न्यूज़

बोरवेल में थे अत्यंत जहरीले कॉमन क्रेट प्रजाति के चार सांप, वाइल्डलाइफ एसओएस टीम ने एक घंटे में निकाले बाहर

बोरवेल में थे अत्यंत जहरीले कॉमन क्रेट प्रजाति के चार सांप, वाइल्डलाइफ एसओएस टीम ने एक घंटे में निकाले बाहर
UP City News | Sep 13, 2021 10:34 PM IST

आगरा. अछनेरा ब्लॉक के जुगसेना गांव में किसान के 20 फुट गहरे बोरवेल में चार जहरीले सांप थे. किसान को इसकी जानकारी हुई तो वह दहशत में आ गया. उसने वाइल्डलाइफ एसओएस की टीम को सूचना दी. टीम ने वहां रेस्क्यू किया. करीब एक घंटे तक अभियान चला. एक कर्मचारी बोरवेल में उतरा. चारों सापों को बोरवेल से सुरक्षित बाहर निकाला. सभी सांपों को रेस्क्यू कर वापस जंगल में छोड़ दिया गया.

चारों सांप कॉमन क्रेट
बचाव कार्य करने वाली रेस्क्यू टीम ने पुष्टि की कि चारों सांप कॉमन क्रे ट थे. यह भारत में चार सबसे विषैले सांपों की प्रजाति में से एक है, सभी सुरक्षा उपायों को ध्यान में रखते हुए चारों सांपों को सुरक्षित रूप से रेस्क्यू कर बाहर निकाला गया. टीम के दो सदस्यों ने इस अभियान को संपन्न किया.

चुनौतीपूर्ण बचाव अभियान
वाइल्डलाइफ एसओएस के डायरेक्टर कंज़रवेशन प्रोजेक्ट्स बैजूराज एमवी ने बताया कि यह एक चुनौतीपूर्ण बचाव अभियान था, क्योंकि हमारी टीम एक नहीं बल्कि चार बेहद जहरीले साँपों को रेस्क्यू कर रही थी. यह सांप रात में काफी सक्रिय होते हैं और दिन में अक्सर दरारों, बिलों, दीमक के टीले या चट्टानों के नीचे आदि में आराम करते पाए जाते हैं. सांपों को पकड़ते समय कुछ सावधानियां बरतना बेहद जरूरी है.

लोग संवेदनशील दृष्टिकोण अपना रहे

वाइल्डलाइफ एसओएस के सह-संस्थापक और सीईओ कार्तिक सत्यनारायण ने कहा कि हमें यह देखकर खुशी है कि लोग गलत समझे जाने वाले इन सांपों के प्रति अधिक संवेदनशील दृष्टिकोण अपना रहे हैं और मामले को अपने हाथों में लेने के बजाय, सहायता के लिए वाइल्डलाइफ एसओएस को संपर्क कर रहे है. सांप बहुत कम ही काटते हैं, हालांकि, जहरीले सांपों को पकड़ने के दौरान, उन्हें बहुत शांत रखना और अनावश्यक दुर्घटनाओं से बचने के लिए सार्वजनिक सुरक्षा बनाए रखना महत्वपूर्ण एवं ज़रूरी होता है.