सिटी न्यूज़

दो साथियों के एनकाउंटर से घबराया साढ़े आठ करोड़ की डकैती का लुटेरा, थाने पहुंचकर किया सरेंडर

दो साथियों के एनकाउंटर से घबराया साढ़े आठ करोड़ की डकैती का लुटेरा, थाने पहुंचकर किया सरेंडर
UP City News | Jul 21, 2021 10:22 PM IST

आगरा. मणप्पुरम गोल्ड लोन कंपनी में साढे़ आठ करोड़ की लूट में शामिल एक बदमाश प्रभात शर्मा ने बुधवार को कमला नगर थाने में सरेंडर कर दिया. थाने में पहुंचे बदमाश ने पुलिस से कहा कि मुझे पकड़ लो, लेकिन मेरा एनकाउंटर मत करना.

दो बदमाशों के एनकाउंटर से था खौफ में
17 जुलाई को आगरा के कमला नगर क्षेत्र में दिनदहाडे़ बदमाशों ने मणप्पुरम गोल्ड लोन कंपनी में डकैती डाली थी. वारदात के डेढ़ घंटे बाद ही पुलिस ने दो बदमाश मनीष और निर्दोष को मुठभेड़ में मार गिराया था. पुलिस डकैती में शामिल अन्य बदमाशों की तलाश में थी। बुधवार दोपहर करीब सवा दो बजे लूट में शामिल एक बदमाश प्रभात शर्मा कमला नगर थाने पहुंचा. उसने कहा कि मैं डकैती में शामिल था. पुलिस ने दो साथियों का एनकाउंटर कर दिया तो वह घबरा गया.

छह नहीं सात बदमाशों ने की थी वारदात
इस बदमाश ने पुलिस को बताया कि डकैती में छह नहीं बल्कि सात बदमाश शामिल थे। इसमें नरेंद्र उर्फ लाला, रेनू उर्फ पंडित उर्फ अविनाश मिश्रा, संतोष जाटव, अंशुल सोलंकी, मनीष पांडेय, निर्दोष प्रजापति थे. अब तक पुलिस को संतोष जाटव का नाम नहीं पता था. पुलिस मान रही थी कि छह बदमाशों ने डकैती की वारदात को अंजाम दिया है.

निर्दोष का बचपन का दोस्त है प्रभात
आईजी नवीन अरोरा ने बताया कि प्रभात ने बताया कि कि वो मुठभेड़ में मारे गए बदमाश निर्दोष का बचपन का दोस्त है. उसने राजस्थान से सेनेटरी इंस्पेक्टर का कोर्स किया है. वहां पर इसकी मुलाकात मारे गए बदमाश मनीष के भाई से हुई थी. उसके जरिए ही ये मनीष के संपर्क में आया था. मनीष ने ही उसे नोएडा में नरेंद्र और सभी बदमाशों से मिलवाया था. प्रभात आगरा में लोहामंडी और खंदौली में किराए पर रहा है.