सिटी न्यूज़

आगराः यादे हुसैन में निकाला जुलूस, या अली-या हुसैन के नारों से गूंजता रहा आसमान, ताजिया सुपुर्द-ए-खाक आज

आगराः यादे हुसैन में निकाला जुलूस, या अली-या हुसैन के नारों से गूंजता रहा आसमान,  ताजिया सुपुर्द-ए-खाक आज
UP City News | Aug 09, 2022 11:08 AM IST

आगरा. मुहर्रम की सात तारीख को आगरा मे ताजियों को इमामबाड़ों और चौकियों पर रख दिया गया था और मुहर्रम की नौ तारीख यानी सोमवार को अलम मुबारक का गम-ए-हुसैन जुलूस खानकहा आलिया कादरिया नियाजिया मेवा कटरा सेव का बाजार से बाद नमाज असर बरादम किया गया. इस दौरान खिराजे अकीदत पेश किया गया. जुलूस के दौरान अखाड़ों के कलाकारों ने करतब दिखाए. आगरा के पाई चौकी स्थित इमामबाड़े में ऐतिहासिक फूलों का ताजिया पर सुबह से लेकर रातभी अकीदतमंदों का हुजूम रहा. फूलों के ताजिया पर फातिहा पढ़ने करने के बाद दुआ मांगी गई. अब आज यानी मुहर्रम की 10 तारीख को अब से कुछ ही देर बाद सुपुर्द-ए-खाक कर दि जाएगा.

मुहर्रम की नौ तारीख यानी सोमवार की रात नौ बजे सेव का बाजार स्थित खानकहा आलिया कादरिया नियाजिया से एक रिवायत को बरकरार रखते हुए यादें हुसैन में एक कदीमी जुलूस निकाला गया. जुलूस की सदारत सज्जादानशीं सैयद अजमल अली शाह जाफरी कादरी नियाजी ने की. शहीद-ए-आजम इमाम-ए-हुसैन की शान में अकीदतमंद मनकबत असार पढ़ते नजर आए तो मुहीबबाने अहले बैत नारे हुसैन, नारे अली के लगाते नजर आए. या हुसैन या अली के नारों से आसमान भी गूंजता नजर आया.
जुलूस मेवा कटरा शहर कॉन्प्लेक्स से फव्वारा हॉस्पिटल रोड, गुड़ की मंडी, फुलट्टी बाजार, चिड़ीमार टोला, पाए चौकी से होता हुआ कटरा द्वकेयान फूलो बाले ताजिया पर हाज़िरी देकर खानकाह वापस हुआ. जुलूस का जगह-जगह इस्ताकबाल किया गया.

Agra News, Agra Hindi News, Agra Latest News, Muharram in Agra, Muharram, Muharram News, Tajia in Agra, UP News, UP Hindi News, UP Latest News, Muharram in UP, Tajiyadari,
हाथों में तिरंगा लेकर अलम के जुलूस में शामिल हुए मुस्लिम समुदाय के लोग

इस दौरान सैयद महमूद उज्जमा, सैयद इरफान सलीम, समी आगाई, हाजी अल्ताफ सलाहुद्दीन, चौधरी मजीद चौधरी, समी उद्दीन ने जुलूस का इस्तकबाल किया. जगह-जगह लंगर तकसीम किया गया. खानकाह में सभी के लिए लंगर का इंतजाम किया गया. सभी जायरीन का इस्ताकबाल और इंतजाम सैयद सब्बर अली शाह, सैयद शमीम शाह, सैयद सिनवान अहमद क़ादरी, सैयद गालिब अली शाह, नायब सज्जादा सय्यद फैज अली शाह, सैयद मोहत्सिम अली शाह, प्रोफेसर सैयद फाईज अली शाह, निसार अहमद साबरी, भैया जाहिद हुसैन, सैयद मुबारिक हुसैन, हाजी इम्तियाज अंसारी, हाजी तौफीक चिश्ती, हाजी इलियास नियाजी, सनी जावेद नियाजी, एजाज नियाजी, नायाब नियाजी, अख़्तर नियाजी जमील उद्दीन नियाज़ी ने व्यवस्था को संभाला.