सिटी न्यूज़

Fraud in Mainpuri: एक नाम से दो जनपदों में नौकरी, एसटीएफ ने मांगे बीएसए से अभिलेख

Fraud in Mainpuri: एक नाम से दो जनपदों में नौकरी, एसटीएफ ने मांगे बीएसए से अभिलेख
UP City News | Oct 14, 2021 01:34 PM IST

मैनपुरी. मैनपुरी में फर्जी शिक्षक (Fraud in mainpuri) के मामले में दो शिक्षकों की जांच एसटीएफ (special task force) ने शुरू की है. एक ही नाम से दो जनपदों में नौकरी करने वाले इन शिक्षकों का बीएसए से रिकार्ड मांगा गया है. पिछले साल अनामिका शुक्ला प्रकरण के बाद प्रदेशभर में एक नाम से दो स्थानों पर नौकरी करने वाले शिक्षकों का खुलासा हो रहा है. पूर्व में एक नाम से दो जिलों में नौकरी करने वाले जिले के छह लोग सेवा से बर्खास्त हो चुके हैं.

धर्मेंद्र सिंह भिडरवार प्राथमिक विद्यालय गुन्हैया करहल, पांच मई 2020, धीरेंद्र सिंह प्राथमिक विद्यालय तरिहा किशनी, दो जुलाई 2020, दीप्ति अनुदेशिका उच्च प्राथमिक विद्यालय जमौरा बेवर, 16 जून 2020, दीप्ति शिक्षिका कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय करहल, 16 जून 2020, विमलेश कुमारी, प्रधानाध्यापिका प्राथमिक विद्यालय घुराई घिरोर, 5 अक्तूबर 2020, अनूप सिंह, प्रधानाध्यापक प्राथमिक विद्यालय मधुकरपुर कुरावली, 6 नवंबर 2020, फर्जी बीएड डिग्री मामले में भी जिले के 74 शिक्षकों पर कार्रवाई हो चुकी है.

एक बार फिर जिले में तैनात दो शिक्षकों की एसटीएफ ने जांच शुरू की है. एसटीएफ ने बीएसए को भेजे पत्र में बताया है कि मैनपुरी में तैनात दो शिक्षकों के अभिलेख संदेह के घेरे में है. उनके नाम से दो शिक्षक अन्य जनपदों में शिक्षण कार्य कर रहे हैं. इनमें एक सुल्तानगंज जनपद में तो दूसरा शिक्षक बदायूं जनपद में नौकरी कर रहा है. ऐसे में संबंधित शिक्षकों की नियुक्ति फाइल, शैक्षिक अभिलेख, पेनकार्ड, आधारकार्ड और मूलनिवास आदि की मूल प्रतियां उपलब्ध कराई जाएं. एसटीएफ के पत्र के बाद बीएसए ने संबंधित शिक्षकों से उनके अभिलेख मांगे हैं.