सिटी न्यूज़

यूपी के बाहुबली गुड्डू पंडित ने पीएम और सीएम के खिलाफ ऐसी क्या बात कह दी जिससे भाजपा हो गई आगबबूला

यूपी के बाहुबली गुड्डू पंडित ने पीएम और सीएम के खिलाफ ऐसी क्या बात कह दी जिससे भाजपा हो गई आगबबूला
UP City News | Oct 13, 2021 11:01 AM IST

आगरा. अपने बयानों से हमेशा से सुर्खियों में बने रहने वाले पूर्व विधायक भगवान दास उर्फ गुड्डू पंडित ने एक बार फिर से विवादित बयान दिया है. इस बार उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ के खिलाफ अभद्र भाषा का इस्तेमाल किया है. उनका ये वीडियो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है. ये वीडियो कब का है, इस बारे में ठीक से जानकारी नहीं मिल सकी है लेकिन चुनाव से पहले वायरल हुए इस वीडियो की चर्चा खूब हो रही है. मगर, उनके इस आचारण से भाजपा नेताओं में उबाल है. उन्होंने पुलिस प्रशासन से उनके खिलाफ कार्रवाई की मांग की है. हालांकि इस वीडियो के वायरल होने के बाद पूर्व विधायक भगदान दास शर्मा उर्फ गुड्डू पंडित की ओर से अभी कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है. मालूम हो कि, भगवान शर्मा उर्फ गुड्डू पंडित बुलंदशहर में बसपा और सपा से दो बार विधायक रह चुके हैं.
पूर्व विधायक भगवान दास उर्फ गुड्डू पंडित ने प्रधानमंत्री मोदी व मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के प्रति अभद्र भाषा का इस्तेमाल किया है, जिसका वीडियो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है. गुड्डू पंडित ने प्रधानमंत्री मोदी व मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को खुला चैलेंज किया है. गुड्डू पंडित पूर्व में भी लगातार विवादों में रहे हैं. गाली गलौज करते समय लोगों ने गुड्डू पंडित को सम्मानित भी किया गया. ये वीडियो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है. वीडिया वायरल होने के बाद पुलिस और प्रशासन में हड़कंप मच गया है. गुड्डू पंडित क इस विवादित वीडियो के वायरल होने पर भाजपा कार्यकर्ताओं में काफी आक्रोश देखने को मिल रहा है. भाजपा ने गुड्डू पंडित के खिलाफ की जल्द कार्रवाई की मांग की है. विवादित बयान के बाद प्रशासन और पुलिस वीडियो में दिख रहे गुड्डू पंडित व समर्थकों के खिलाफ कार्रवाई कर सकती है.
पहले भी विवादों में रहे हैं गुड्डू पंडित
7 जून 2020 को उत्तर प्रदेश के पूर्व विधायक गुड्डू पंडित का हाईवे किनारे समर्थक का जन्मदिन मनाने का वीडियो वायरल हो गया है। वहां मौजूद कोई भी शख्स सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए नहीं दिख रहा है। साथ ही साथ किसी के चेहरे पर मास्क भी नहीं है। कोरोना काल में सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उड़ाने वाले पूर्व विधायक और उनके समर्थकों के खिलाफ अभी तक कोई कार्रवाई नहीं हुई है.
राजबब्बर के लिए भी कर चुके हैं अभद्र भाषा
16 अप्रैल 2019 के लोकसभा चुनाव में आगरा की फतेहपुर सीकरी से बसपा प्रत्याशी गुड्डू पंडित ने कांग्रेस प्रत्याशी राज बब्बर पर जुबानी हमला बोला था. गुड्डू पंडित उर्फ श्रीभगवान शर्मा ने इसी सीट से कांग्रेस के उम्मीदवार राज बब्बर को 'दौड़ाकर पीटने' की धमकी दी थी. 31 सेकेंड के इस वीडियो में गुड्डू पंडित अपने समर्थकों के साथ थे. इस दौरान उन्होंने कांग्रेस प्रत्याशी राज बब्बर के खिलाफ जमकर गाली गलौच की थी.हालांकि पूरे मामले पर राज बब्बर ने कोई प्रतिक्रिया नहीं दी थी.
नशे में धुत नेताजी ने किस तरह मांगा वोट
2019 में फतेहपुर सीकरी लोकसभा सीट से प्रचार के दौरान गुडडू पंडित का नशे में धुत होकर जनता से वोट मांगते हुए वीडियो में कैद हुआ था. 10-20 लोगों से घिरे नेता जी से एक बुजुर्ग आदमी ने शिकायत की कि वोट मांगने तो सब आ जाते हैं, पर काम कोई नहीं करता. इसके बाद उस बुजुर्ग ने कहा कि यहां अभी तक बिजली का कनेक्शन नहीं आया है. इसपर इधर-उधर झूलते नेता जी ने पहले तो ज्ञान बांटते हुए कहा कि मैं आपका काम कर दूं और आप मुझे वोट करें तो ये स्वार्थ होगा और स्वार्थ के मार्ग में कष्ट ही कष्ट है. उसके बाद नेताजी बोले की समर्पण से काम करने वालों का प्रकृति और भगवान भी साथ देते हैं. फिर नेताजी ने कहा सुबह कार्यालय पर आ जाना, मैं या अधिकारी होंगे, काम हो जाएगा.
जमानत तक नहीं बचा पाए थे गुड्डू पंडित
फतेहपुर सीकरी लोकसभा सीट पर सपा, बसपा—रालोद गठबंधन को सबसे करारी शिकस्त मिली थी. भाजपा प्रत्याशी राजकुमार चाहर की रिकॉर्ड जीत के आगे गठबंधन प्रत्याशी श्रीभगवान शर्मा उर्फ गुड्डू पंडित अपनी जमानत तक नहीं बचा पाए। उन्हें महज एक चौथाई वोट ही मिले और जमानत जब्त हो गई.
कल्याण सिंह के बेटे को हरा चुके हैं गुड्डू पंडित
पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह का गढ़ कहे जाने वाले डिबाई में उन्हीं के बेटे राजवीर सिंह को हराकर विधायक बने श्रीभगवान शर्मा उर्फ गुड्डू पंडित पर लोकसभा चुनाव 2019 में मायावती ने सियासी दांव खेला था. आपराधिक छवि के बावजूद मायावती ने गुड्डू पंडित को ऐन वक्त पर फतेहपुरी सीकरी से प्रत्याशी बनाया था.
कौन हैं गुड्डू पंडित
श्रीभगवान शर्मा उर्फ गुड्डू पंडित मूलरूप से गौतमबुद्धनगर के गांव गिझौड़ के रहने वाले हैं. वर्ष 2007 में बसपा के टिकट पर डिबाई विधानसभा से पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह के बेटे राजवीर सिंह को हराकर गुड्डू पंडित ने राजनीति में कदम रखा था. गुड्डू पंडित ने बसपा के टिकट पर जब डिबाई विधानसभा सीट से ताल ठोकी, तब किसी को अंदाजा नहीं था कि क्या होने वाला है. सारे सियासी समीकरणों के धता बताकर गुड्डू पंडित विधायक बने थे. वर्ष 2012 में उन्होंने सपा के टिकट पर फिर जीत हासिल की. इस बार भी उन्होंने राजवीर सिंह को हराया था. हालांकि, इस बार वो अपना कार्यकाल पूरा नहीं कर पाए, उन्हें बीच में ही पार्टी से निष्कासित कर दिया गया था. वर्ष 2017 विधानसभा चुनाव में गुड्डू पंडित ने भाजपा से टिकट मांगी, लेकिन भाजपा ने टिकट नहीं दिया. इस पर उन्होंने राष्ट्रीय लोकदल के टिकट पर चुनाव लड़ा. इस बार उन्हें हार का सामना करना ही नहीं करना पड़ा बल्कि जमानत भी जब्त हो गई थी.
कभी टैक्सी स्टैंड का ठेका वसूलता था गुड्डू पंडित
किसी जमाने में गुड्डू पंडित पूर्वी उत्तर प्रदेश के बाहुबली और मंत्री रहे अमरमणि त्रिपाठी के टैक्सी स्टैंड का ठेका वसूलते थे. मजबूत कद काठी के मालिक गुड्डू को अमरमणि कभी ड्राइवर तो कभी बॉडीगार्ड के तौर पर भी इस्तेमाल करते, इस दौरान अमरमणि जिस भी नेता के घर जाते वो भी उनके साथ जाता. अमरमणि जब नेताओं के बंगले के अंदर होते तो बेहद तेज-तर्रार गुड्डू सभी नेताओं के आस-पास रहने वाले लोगो से संपर्क बनाता. अमरमणि के करीबियों का ये दावा है कि मंत्री रहने के दौरान अमरमणि ने बेहद अकूत दौलत कमाई और उससे कई बेनामी संपत्ति भी खरीदी, गुड्डू पंडित की सेवाभाव से अमरमणि प्रभावित थे लिहाजा उन्होने उसके नाम भी कई संपत्ति खरीद रखी थी. लेकिन, इसी दौरान मधुमिता हत्याकांड में नाम आने के बाद अमरमणि को मंत्री पद से बर्खास्त होना पड़ा और वो जेल भी गए. इस बीच गुड्डू पंडित की राजनैतिक महत्वकांक्षा ने गोता लगाना शुरु किय़ा और वह अमरमणि के लाखो रुपये और संपत्ति को हथिया बुंलदशहर आ गया.