सिटी न्यूज़

आगरा : दवा माफिया को बंगाल एसटीएफ ने किया गिरफ्तार,मालदा में ट्रक भरकर सीरप भेजा था

आगरा : दवा माफिया को बंगाल एसटीएफ ने किया गिरफ्तार,मालदा में ट्रक भरकर सीरप भेजा था
UP City News | Nov 26, 2022 08:47 AM IST

आगरा. उत्तर प्रदेश के जनपद आगरा(Agra) से एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है. जिसमें अवैध नशीली दवाइयों(Illegal drugs) के माफिया जयपुर हाउस (Jaipur House) निवासी जयपुर हाउस निवासी देवेंद्र आहूजा उर्फ चिंटू को बंगाल की एसटीएफ(STF) ने हिरासत में ले लिया है. जिसके बाद थाना कोतवाली ले जाकर पूछताछ की जा रही है. बताया गया कि मालदा में दवाओं का ट्रक पकड़ा गया था. इसी सिलसिले में पुलिस उसे खोजते हुए आगरा आई है. देर शाम तक थाना कोतवाली में पूछताछ चल रही.

पश्चिम बंगाल को मालदा पुलिस ने शुक्रवार आगरा के दवा कारोबारी को घर दबोचा. मालदा टाउन (प. बंगाल) में बीते दिनों एक ट्रक पकड़ा गया था. पुलिस के मुताबिक इसमें नशे के काम आने वाली दवाएं थीं. इनमें भी एक विशेष प्रकार के सीरप का जिक्र आया था.आगरा से इस सीरप की कई राज्यों में सप्लाई होती है. इसी सिलसिले में मालदा पुलिस ने जयपुर हाउस निवासी जयपुर हाउस निवासी देवेंद्र आहूजा उर्फ चिंटू को हिरासत में ले लिया.

बता दें कि यह पूरा मामला आगरा के थाना कोतवाली क्षेत्र के फव्वारा का है जहां से युवक को हिरासत में ले लिया गया है और कोतवाली ले जाकर पूछताछ की जा रही है. बताया जा रहा है कि जयपुर हाउस निवासी अवैध नशीली दवाइयों का कारोबार करते हैं. जिसमें दवाइयों को लेकर उनसे पूछताछ की जा रही है. वहीं, बड़े खुलासे होने की संभावना है.

हिमाचल की टीम ने भी मारा था छापा
बताते चलें कि इससे पहले आगरा के मोहित बंसल को हिमाचल प्रदेश की पुलिस ने
बद्दी में पकड़ा था, जिसे लेकर आगरा आई. यहां पर औषधि विभाग के साथ मिलकर जांच की. मोहित बंसल निवासी रामकुंज कालोनी कमला नगर अपनी फर्म MH फार्मा फव्वारा से 11 राज्यों में नकली दवाओं की सप्लाई कर रहा था. बद्दी में फैक्ट्री और गोदाम बना रखा था. वहां से कार से दवाएं आगरा लेकर आता था. एमएच फार्मा के नाम से बिल बनाकर Branded कंपनियों की नकली दवा सप्लाई करता था. मगर स्थानीय औषधि विभाग को भनक तक नहीं लगी. मोहित बंसल के साथ ही फव्वारा दवा बाजार के दवा कारोबारी और हाकर भी शामिल हैं. इस मामले में औषधि विभाग की टीम अपने स्तर से कोई जांच नहीं कर रही है.

इन दवाओं को भेजा जांच के लिए
टीम ने जांच के लिए डायटॉर-10, मांटेयर 10, जीरोडॉल टीएच4, रोजडे-10, यूरिस्पास, बायो डी-3 प्लस कैप्सूल, डिलजेम-एसआर, अटोर्वा-10 और अटोर्वा-20 के 19 नमूने लेकर उसे जांच के लिए लैब भेजा है. मेडिकल स्टोर फिर से सील कर टीम जांच के लिए कंप्यूटर की हार्ड डिस्क और रिकॉर्ड साथ ले गई है.

हृदय, कोलेस्ट्रॉल, किडनी की मिली नकली दवाएं
औषधि निरीक्षक नवनीत कुमार यादव ने बताया कि नकली दवाओं में हृदय रोग, कोलेस्ट्रॉल, किडनी रोग, एलर्जी की हैं. हड्डी रोग के लिए कैल्शियम, एंटीबायोटिक, दर्द निवारक समेत अन्य मर्ज की दवाएं भी मिली हैं. नमूना फेल होने पर आगरा में भी मुकदमा दर्ज कराया जाएगा.