सिटी न्यूज़

60 दिन बाद ताजमहल सहित देशभर के स्मारक 'अनलॉक', पर्यटन कारोबारियों के खिले चेहरे

60 दिन बाद ताजमहल सहित देशभर के स्मारक 'अनलॉक', पर्यटन कारोबारियों के खिले चेहरे
UP City News | Jun 14, 2021 04:24 PM IST

आगरा. कोरोना संक्रमण के चलते देशभर में 'लॉक' ताजमहल सहित सभी स्मारक अब एक बार फिर 16 जून से पर्यटकों के लिए 'अनलॉक' हो जाएंगे. भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण (एएसआई) की ओर से सोमवार दोपहर ताजमहल सहित देशभर के संरक्षित स्मारक खोलने की अधिसूचना जारी की. कोविड-19 प्रोटोकॉल का पालन करते हुए पर्यटक फिर से ताज का दीदार कर सकेंगे. 60 दिन बाद ताजमहल सहित सभी स्मारक 'अनलॉक' होने से आगरा में पर्यटन कारोबारियों के चेहरे खिल गए हैं.

बता दें कि, भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण विभाग (एएसआई) ने कोरोना की दूसरी लहर के चलते 16 अप्रैल 2021 से ताजमहल सहित देशभर के सभी स्मारकों को पर्यटकों के लिए बंद कर दिया था. एएसआई ने यह ऐलान पहले 15 मई तक किया था. जो धीरे-धीरे बढ़ा और सभी स्मारक 16 जून तक बंद हो गए.

सोशल डिस्टेंस और सैनिटाइजेश का बंदोबस्त

एएसआई के अधीक्षण पुरातत्वविद वसंत कुमार स्वर्णकार ने बताया कि, एएसआई मुख्यालय से डॉयरेक्टर (मॉन्युमेंट ) एनके पाठक का आदेश सोमवार दोपहर को मिला है. इस आदेश में ताजमहल सहित देशभर के सभी संरक्षित स्मारक खोलने के निर्देश हैं. जिसके तहत अब 16 जून-2021 को पर्यटकों के लिए आगरा में ताजमहल सहित सभी संरक्षित स्मारक खुल जाएंगे. ताजमहल और अन्य स्मारक खोलने के लिए जिला प्रशासन के साथ बैठक करके कोरोना की गाइडलाइन के अनुसार स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोसीजर (एसओपी) बनाई जाएगी. जिससे यहां कोरोना संक्रमण को रोका जा सके . ताजमहल और अन्य स्मारक सैनिटाइजेशन, मास्क लगाने और सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का पालन कराया जाएगा.

188 दिन पहले रहा था बंद

सन 2020 में जब कोरोना संक्रमण बढ़ने पर 17 मार्च को अचानक एएसआई के संरक्षित देश भर के सभी स्मारकों को बंद कर दिया गया. जिसमें ताजमहल आगरा किला भी शामिल था. लेकिन, जुलाई में कोरोना संक्रमण की रफ्तार कम होने पर धीरे-धीरे एएसआई की ओर से स्मारकों को पर्यटकों के लिए 'अनलॉक' किया. मगर, ताजमहल और आगरा किला को कैपिंग सिस्टम, कोरोना प्रोटोकॉल और एसओपी के साथ 21 सितंबर 2020 को 188 दिन बाद 'अनलॉक' किए गए. एसओपी के तहत पर्यटकों को मास्क लगाना अनिवार्य किया गया. ऑनलाइन टिकटिंग की व्यवस्था की गई. धीरे-धीरे पर्यटकों की संख्या बढ़ने से ताजमहल की कैपिंग सिस्टम में लपकों ने सेंध लगा दी. टिकटों की कालाबाजारी होने लगी थी.

आगरा में ताजमहल सहित अन्य स्मारकों को 'अनलॉक' होने से पर्यटन कारोबार से जुड़े हुए करीब 4.5 लाख से ज्यादा लोगों की उम्मीद जगी हैं. जो दो माह से बेरोजगार थे. जिसमें टूरिस्ट गाइड, फोटोग्राफर, पर्यटन कारोबारी, हैंडीक्राफ्ट कारोबारी व कारीगर, एंपोरियम संचालक, होटल और रेस्टोरेंट संचालक सहित अन्य तमाम लोग शामिल हैं.